ब्लड सर्कुलेशन को बनाना है अच्छा तो अपने आहार में जरूर शामिल करे ये फूड्स

जिस तरह पौधे के लिए पानी जरूरी है, उसी प्रकार हमारे शरीर के लिए खून। एक सेहतमंद शरीर के लिए बेहद जरूरी है उसमें 24 घंटे लगातार खून का दौड़ना। शरीर में  एक सेकेंड के लिए भी खून के प्रवाह का रूकना जानलेवा हो सकता है। लेकिन हमारी कुछ गलत आदतों और अनियमित खान-पान की वजह से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन का प्रवाह बाधित होता रहता है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा संकेत नहीं। खराब ब्लड सर्कुलेशन को अच्छा बनाने का बेहतर उपाय है रोजाना एक्सरसाइज करना। लेकिन आप चाहें तो अपने आहार में नीचे दिए गए इन पांच फूड्स को शामिल कर के भी ब्ल्ड सर्कुलेशन को अच्छा बना सकती हैं। 

चुकंदर

चुकंदर में आयरण और नाइट्रेड जैसे कई महत्वपूर्ण तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए जरूरी होते हैं। अपने रोजाना आहार में चुकंदर को शामिल करें। आप चाहें तो चुकंदर का सलाद या जूस बनाकर पी सकती हैं। इसके सेवन से शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर हो जाएगा। 

प्याज

ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में प्याज काफी फायदेमंद है। इसमें फ्लैवोनॉइड एंटीऑक्सीडेंट्स प्रचूर मात्रा में पाया जाता है, जो हार्ट के लिए भी अच्छा होता है। एक शोध में 23 लोगों को 30 दिन तक रोजाना 4.3 ग्राम प्याज का अर्क दिया गया था। अध्ययन के बाद पाया गया कि सभी का ब्ल्ड सर्कुलेशन पहले से काफी अच्छा हुआ है। आप चाहे तो सलाद के रूप में प्याज का सेवन कर अपना ब्लड सर्कुलेशन अच्छा बना सकती हैं। 

अनार

अनार में भी कई गुण पाए जाते हैं। इसके रसभरे दाने शरीर में खून के प्रवाह को तेज करते हैं। अपनी डेली डाइट में आप अनार का जूस ले सकती हैं। आप चाहें तो अनार के दाने चबाकर खाएं। इससे आपको अच्छी मात्रा में फाइबर मिलेगा, जो दिल के लिए अच्छा होता है। 

हल्दी                                 

हल्दी को औषधी के रूप में प्रयोग किया जाता है। रोजाना हल्दी का सेवन ब्लड सर्कुलेशन को अच्छा बनाता है। इसमें कक्युर्मिन नामक एक खास तत्व होता है, जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। 

लहसुन                       

लहसुन शरीर में खून के प्रवाह को अच्छा बनाता है। इसके सेवन से कई तरह की बीमारियां नहीं होती। आप चाहें तो लहसुन की एक या दो कलियां खड़े पानी के साथ पी सकती हैं। इसके अलावा इसे सब्जी में भी पीस कर डाल सकती हैं। यह स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। 

posted by -दीपिका पाठक