बुढ़वा मंगल मेला पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

सीतापुर। जिले भर में बुढ़वा मंगल पर पवन सुत हनुमान की आराधना की गई। लोगों ने विधिविधान से हनुमान जी की पूजा अर्चना की। इसके साथ ही सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया। दिन भर मंदिरों में पूजा अर्चना का सिलसिला चलता रहा है। यू तो सोमवार से ही मंदिरों में बुढ़वा मंगल की तैयारियां शुरू हो गई थी। साफसफाई के साथ ही मंदिरों को सजाया गया था। मंगलवार को सुबह पांच बजे से ही मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। लोगों ने अपने आराध्य हनुमान जी को बूंदी का भोग लगाकर उनकी आरती उतारी। शहर के दुर्गा मंदिर, बड़ा हनुमान मंदिर, ब्रह्मदेव मंदिर समेत सभी मंदिरों में भक्तजनों ने पूजा अर्चना की। पूरे दिन मंदिरों में सुंदरकांड और भजन पूजन होता रहा। शाम को मंदिरों में भव्य आरती का आयोजन किया गया। इसके बाद प्रसाद का वितरण किया गया। लोगों ने हनुमान जी की पूजा कर उनसे कष्टों से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की। शहर के जेल रोड स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर पर भंडारे का आयोजन किया गया था। प्रतिवर्ष बुढ़वा मंगल पर यहां मेले का आयोजन होता था, लेकिन इस बार कोरोना काल की वजह से रंग फीका रहा। हालांकि श्रद्धालुओं की भीड़ जमा रही। श्रद्धालु अपने प्रभु हनुमान से पूरे विश्व को कोरोना जैसी महामारी से निजात दिलाने के लिए प्रार्थना करते नजर आए। इसी तरह से घंटाघर हनुमान मंदिर, नैपालापुर स्थित हनुमान मंदिरों पर पूजा अर्चना का दौर चलता रहा। नैमिषारण्य में हनुमानगढ़ी में पूजा अर्चना की गई। इस दौरान कई स्थानों पर भंडारे का आयोजन किया गया। रोडवेज बस स्टैंड मंदिर के साथ बिसवां, लहरपुर, रेउसा, सिधौली, खैराबाद, मछरेहटा, महोली, मिश्रिख, संदना आदि कस्बों में हनुमान मंदिर पर बुढ़वा मंगल की धूम देखी गई।