क्या घटने लगा हैं शरीर का ऑक्सीजन लेवल तो इन आयुर्वेद उपायों से करें मेंटेन

 

दुनियाभर में इस समय कोरोना तेजी से फैल रहा है। इसके कारण बहुत से मरीजों को सांस संबंधी समस्याएं हो रही है। इसके अलावा बढ़ते प्रदूषण व पहले से सांस संबंधी समस्या से परेशान लोगों के शरीर का ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा है। ऐसे में इससे बचने के लिए अपनी डेली डाइट का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इसके लिए आप आयुर्वेद द्वारा बताई चीजों का भी सेवन कर सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको आयुर्वेद द्वारा बताई कुछ चीजों के बारे में बताते हैं। 

काढ़े का सेवन

कोरोना व मौसमी बीमारियों से बचने के लिए काढ़े का सेवन करना बेस्ट ऑप्शन है। थोड़ी- थोड़ी मात्रा में रोजाना इसका सेवन करने से ऑक्सीजन का स्तर बढ़ने में मदद मिलती है। इसे बनाने के लिए आप गुड़, काली मिर्च, लौंग, अदरक व तुलसी का इस्तेमाल कर सकते हैं। मगर इसका सेवन अधिक ना करें। साथ ही जिन्हें गर्मियों काढ़ा सूट नहीं करता है उन्हें इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

नीलगिरी तेल

इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल गुण सर्दी-जुकाम, खांसी आदि से राहत दिलाने में मदद करता है। औषधीय गुणों से भरपूर इस तेल का इस्तेमाल दवाइयां बनाने में भी होता है। इस तेल को सूंघने से नाक व गले में मौजूद जीवाणु खत्म होते हैं। साथ ही साथ से जुड़ी समस्याएं दूर होती है।

अंकुरित अनाज

अंकुरित अनाज फाइबर व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर होता है। इसका सेवन करने से सांस संबंधी समस्याएं दूर होती है। ऐसे में रोजाना नाश्ते में इसका सेवन करना बेस्ट ऑप्शन है। इससे इम्यूनिटी स्ट्रांग होकर काम करने की शक्ति बढ़ती है।

कपूर

कपूर औषधीय व एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है। इसे सूंघने या भांप लेने से सर्दी, बंद नाक, छींक, जुकाम व सांस संबंधी समस्याओं से आराम मिलता है।

सेब 

जैसे कि आपने सुना ही होगा, दिन में एक सेब खाने से कई बीमारियों से बचाव रहता है। ऐसे में दिन की इसी से करना बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसमें विटामिन-सी, आयरन, कैल्शियम, एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। ऐसे में इसका सेवन करने से इम्यूनिटी व ऑक्सीजन लेवल बढ़ने में मदद मिलती है। 

posted by -दीपिका पाठक