श्रीराम जन्म की कथा सुनकर मंत्रमुग्ध हुए श्रोता

परसपुर /गोण्डा । स्थानीय नगर पंचायत परसपुर अंतर्गत पूरे धिरजा स्थित श्रीराम जानकी मन्दिर परिसर में आठ दिवसीय श्री सूर्यमहायज्ञ एवम विराट सन्त सम्मेलन का आयोजन किया गया है। जिसमे यज्ञाचार्य पण्डित केदारनाथ मिश्रा के नेतृत्व में वैदिक विद्वान द्वारा नित्य प्रति पूजन आरती का कार्यक्रम किया जा रहा है। इस बावत यज्ञाचार्य ने बताया कि उक्त आठ दिवसीय श्री सूर्यमहायज्ञ एवम विराट सन्त सम्मेलन के दौरान गत रविवार की कलश यात्रा निकाली गयी जोकि नगर भ्रमण के उपरांत भौरीगंज स्थित सरयू घाट से कलश में जल भरकर यज्ञशाला में रखा गया। तत्पश्चात पंचांग पूजन मण्डप प्रवेश तथा वेदी पूजन व भगवान सूर्य देव की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम किया गया। उन्होंने बताया कि 7 अप्रैल दिन बुधवार को अरणी मंथन द्वारा भगवान अग्नि देव को प्रगट किया जाएगा।वही कार्यक्रम के आयोजक देवेन्द्र दत्त मिश्रा ने बताया कि प्रतिदिन मानस प्रवक्ता कथाव्यास अवस्थी के मुखारविन्द से श्रीराम कथा का विस्तार से वर्णन किया जा रहा है। जिसमे सोमवार की कथा के दौरान भगवान श्रीराम जन्म की कथा का रसास्वादन कराया जिसे सुनकर श्रोतागण मंत्रमुग्ध हो गये। इस अवसर पर ध्यानदत्त मिश्रा, हुकुमदत्त मिश्रा, विकास मिश्रा, राधारमण चतुर्वेदी, कपिल मिश्रा समेत तमाम क्षेत्रवासी उपस्थित रहकर भगवान श्रीराम की अमृतमई  कथा का श्रवण कर  अपने जीवन को धन्य किया।