भाजपा विकास के नाम पर प्रदेश का विनाश कर रही: संजय गर्ग

सहारनपुर। नगर विधायक संजय गर्ग के कैंप कार्यालय विजय टॉकीज चकराता रोड पर समाजवादी पार्टी महानगर कार्यकारिणी की मासिक बैठक हुई। बैठक को संबोधित करते हुए समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व मंत्री एवं विधायक सहारनपुर संजय गर्ग ने कहा कि भाजपा सरकार ने विकास के नाम पर उत्तर प्रदेश को विनाश के गर्त में ढकेल दिया है। भाजपा की काली करतूतों एवं जन विरोधी नीतियों के चलते प्रदेश की ख्याति धूमिल हुई है। भाजपा सरकार किसानों को अपमानित करने पर तुली है। भाजपा किसान को उद्योगपति बनाने का झांसा देकर उसकी खेती को उद्योग की श्रेणी में रखकर उसे आयकर की जद में लाने की साजिश कर रही है।उत्तर प्रदेश मैं भाजपा सरकार के कार्यकाल में यह राज्य अपराध, भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता, बेरोजगारी, खराब शिक्षा, चैपट स्वास्थ्य व्यवस्था, और महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध के मामले में शीर्ष पर पहुंच गया है। नाबालिक बच्चों से बलात्कार, हत्या और फर्जी एनकाउंटर में यूपी सबसे आगे निकल गया है। उन्होंने कहा कि हमें संकल्प लेना है कि विभाजनकारी ताकते फिर कामयाब ना हो और सन 2022 में समाजवादी पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे और माननीय अखिलेश यादव जी को मुख्यमंत्री बनाने का काम करेंगे। 

इस अवसर पर बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री लियाकत अली एडवोकेट ने कहा कि भाजपा ने झूठ और नफरत की राजनीति कर के सत्ता हासिल की है। भाजपा के इशारे पर उत्तर प्रदेश में हत्या हो रही है। अपराध चरम सीमा पर है। उन्होंने कहा कि भाजपा से देश के किसान नौजवान एवं सभी वर्ग परेशान है। उन्होंने कहा कि सन 2022 में भारतीय जनता पार्टी को सत्ता से बेदखल कर समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने का काम करेंगे। इसी अवसर पर बैठक की अध्यक्षता कर रहे महानगर अध्यक्ष मोहम्मद आजम शाह, ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज कायम है। लगातार उत्तर प्रदेश में हत्या हो रही है। अपराधी बेलगाम हो चुके हैं। भाजपा सरकार केवल झूठे वादे करके जनता का ध्यान भटकाने का काम करती है। अब जनता ने मन बना लिया है सन2022 में भाजपा को सत्ता से हटाकर माननीय अखिलेश यादव जी के नेतृत्व में समाजवादी सरकार बनाने का काम करेगी। 

इस अवसर पर बैठक में विचार रखने वालों में मुख्य रूप से परीक्षित वर्मा, चंद्रशेखर राणा, हरपाल वर्मा, अनवर खान वारसी, शाहनवाज चादं, पार्षद अभिषेक टिंकू अरोड़ा, मुस्तकीम राणा, नत्थू राम यादव, राहुल शर्मा, वरदान बाल्मीकि, राम कुमार विश्वकर्मा, उदयवीर कश्यप, चैधरी अब्दुल गफूर, अखिल प्रसाद, अमित गुप्ता, सोनू त्यागी, नागेंद्र राणा, आकाश पवार, मास्टर जयसिंह बर्मन, गुलशेर आढती, आदि ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर बैठक में शामिल होने वाले मौलाना याकूब बुलंदशहरी, पार्षद इरशाद अहमद, नरेश पांचाल, मोहम्मद उमर, तुषार गोयल, फैसल भारती, विक्की वर्मा, सैफ अली मलिक, जावेद मलिक, शहावेज मलिक, फुरकान मलिक, मोहम्मद अहसान, सुशील यादव, मोहम्मद शाहिद, मोहम्मद शाहिद मंसूरी, विनय त्यागी, प्रमोद कुमार, हाजी कल्लू, राजीव सिंह, ऋषिपाल सिंह, दानिश अहमद, मोहम्मद सावेज, श्रीमती राजेश, श्रीमती गफुरी, श्रीमती रीना, श्रीमती सुशीला, श्रीमती आशा, सुशील नरैया, लियाकत जादी, मोहम्मद अकरम, उस्मान, तनवीर अहमद, डॉ मुंतजीर मलिक, हरीश वर्मा, संजय सूद, तरुण पिवाल, शम्मी सम्बुल, रोहित जोलान, आशु डिलोज, निखिल नागवंशी, विकास कुमार, विक्रांत लांबा, नरेश जायसवाल, शाहनवाज आलम, महफूज अंसारी, भूरा बाबा, नौशाद अहमद, शाहनवाज, अनुज यादव, रवि घावरी, गुफरान मलिक, जोंनु कुमार दाबगी, आसिफ खान आदि भारी संख्या में उपस्थित रहे।