बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कंट्रोल रखेगा खीरा, कुछ दिनों में ही दिखेगा असर

 

गलत लाइफस्टाइल व खानपान के कारण लोग सेहत से जुड़ी कई समस्याओं के शिकार हो रहे हैं। इनमें से एक है यूरिक एसिड। शरीर में प्यूरीन नामक प्रोटीन बढ़ जाने से यूरिक एसिड का स्तर भी बढ़ने लगता है। समय रहते इस पर काबू ना पाने पर हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, थायराइड जैसी बीमारियों की चपेट में आने का खतरा रहता है। इसके अलावा यह किडनी पर भी गहरा असर डालता है। बात इसे कंट्रोल करने की करें तो इसे खीरे की मदद से कंट्रोल किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से...

यूरिक एसिड का नार्मल लेवल

महिला- 2.4-6.0 मिलीग्राम,डेसीमीटर

पुरुष- 3.4- 7.0 मिलीग्राम,डेसीमीटर

यूरिक एसिड में बेहद कारगर खीरा

यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए खीरा बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसमें विटामिन ए, बी1, बी6 सी,डी, फाइबर, पौटेशियम, आयरन आदि तत्व होते हैं। ऐसे में इसका सेवन करने से यूरिक एसिड नियंत्रित रहने में मदद मिलती है। इसके अलावा शरीर में सूजन, अकड़ने व जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है। 

आप खीरे को जूस के तौर पर डेली डाइट में शामिल कर सकती है।

खीरे का जूस बनाने का तरीका

- इसके लिए सबसे पहले खीरे को धोकर छील लें। 

- अब इसे टुकड़ों में काट कर मिक्सी या ग्राइंडर की मदद से इसका जूस निकालें। 

- आप इसमें पुदीने की कुछ पत्तियां भी डाल सकती है। 

- तैयार जूस को छन्नी से छान कर गिलास में निकालें। 

- इसमें थोड़ा सा नींबू का रस और सेंधा  नमक डालकर पीएं।

इस समय करें सेवन

इसे रोजाना सुबह खाली पेट पीना ज्यादा फायदेमंद रहेगा। 

खीरे का सेवन करने के अन्य फायदे

- इसमें कैल्शियम होने से हड्डियों को मजबूती मिलती है। 

- स्किन को गहराई से पोषण मिलने से चेहरे पर ग्लो आता है। 

- खीरे का जूस पीने से इंसुलिन कंट्रोल रहता है। ऐसे में डायबिटीज से बचाव रहता है।

- खीरे में फाइबर होने से पाचन तंत्र ठीक रहता है। ऐसे में कब्ज, गैस, पेट दर्द आदि पेट संबंधी समस्याओं से आराम रहता है। 

- इसके सेवन से इम्यूनिटी स्ट्रांग होने के साथ दिनभर तरोताजा महूसस होगा। 

- इसका सेवन करने से शरीर पर जमा एक्सट्रा चर्बी कम होकर बॉडी शेप में आएगी।

posted by -दीपिका पाठक