नायब तहसीलदार के आश्वासन पर मासूम के अंतिम संस्कार को राजी हुये परिजन


लालगंज,प्रतापगढ़: कोतवाली के खंडवा गांव में मासूम की धारदार हथियार से हुई हत्या को लेकर दूसरे दिन बुधवार को भी परिजनों व ग्रामीणों में आक्रोश दिखा। मंगलवार की देर शाम जब मृतका का शव घर पहुंचा तो कोहराम मच गया। बुधवार की सुबह परिजनों ने मृतका का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया । इस पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची । नायब तहसीलदार के आश्वासन पर दोपहर बाद परिजन अंतिम संस्कार को राजी हो सके।

   कोतवाली के खंडवा गांव के जीतलाल यादव की पुत्री श्वेता उम्र 06 वर्ष को मंगलवार की सुबह मोठिन गांव के पिन्टू दुबे ने इसलिए धारदार हथियार से काट डाला क्योंकि मासूम ने अनजाने में उसे जुगिया कहकर चिढ़ा दिया था। घटना को लेकर आरोपी पिन्टू की भी गांव के लेागों ने जमकर पिटाई कर दिया। ग्रामीणों की पिटाई में पिन्टू दुबे भी गम्भीर रूप से घायल हो गया। अभी जिला अस्पताल में आरोपी का इलाज जारी है। बुधवार को परिजनों ने श्वेता का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया। सूचना मिलते ही लालगंज कोतवाल रणजीत सिंह भदौरिया तथा संग्रामगढ़ एसओ आशुतोष तिवारी भारी फोर्स के साथ गांव पहुंचे । 

पुलिस ने परिजनों को मनाने का प्रयास किया किन्तु परिजन अंतिम संस्कार को राजी न हुये। इसके बाद नायब तहसीलदार आकांक्षा मिश्रा मौके पर पहुंची। नायब तहसीलदार ने परिजनों को समझाया बुझाया। इस पर परिजनों ने नायब तहसीलदार को डीएम को सम्बोधित एक मांग पत्र सौपा। जिसमें पीड़ित परिवार ने पचास लाख रूपये मुआवाजा तथा सरकारी नौकरी व आरोपी को जेल एवं एक शस्त्र लाइसेन्स की मांग रखी है। नायब तहसीलदार ने मांग को लेकर परिजनों को सकारात्मक कार्यवाई का भरोसा दिलाया। इसके बाद परिजन श्वेता के अंतिम संस्कार को राजी हुये। श्वेता के अंतिम संस्कार हो जाने के बाद देर शाम पुलिस ने राहत की सांस ली।