बड़े काम का है यह छोटा सा फल, रोजाना सेवन करने से मिलेंगे फायदे

गर्मी के मौसम में खानपान का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। ताकि डिहाइड्रेशन व अन्य बीमारियों की चपेट में आने से बचा जा सके। इसके लिए डेली डाइट में कीवी फल शामिल करना बेस्ट ऑप्शन है। इसमें विटामिन सी और ई, पोटेशियम, कैल्शियम, फाइबर,एंटी-ऑक्सीडेंट्स, एंटी-इंफ्लेमेटरी व औषधीय गुण होते हैं। ऐसे में रोजाना 1 कीवी का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है। तो चलिए जानते हैं इसके अन्य फायदों के बारे में...

डेंगू में फायदेमंद 

डेंगू के मरीजों को कीवी का सेवन करने से जल्दी रिकवरी होने में मदद मिलती है। इसके अलावा खून में घट रही प्लेटलेट्स को बढ़ाने में भी कीवी फायदेमंद माना जाता है। 

ब्लड प्रेशर रहे कंट्रोल 

एक शोध के अनुसार, लगातार 8 हफ्तों तक कीवी खाने से हाई बीपी की परेशानी दूर होती है। ऐसे में दिल बेहतर तरीके से काम करता है। साथ ही इससे जुड़ी बीमारियां होने का खतरा कम रहता है। 

स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा करे कम

रोजाना 1 कीवी का सेवन करने से शरीर में खून के थक्के बनने की परेशानी से राहत मिलती है। ऐसे में स्ट्रोक व हार्ट अटैक आने का खतरा कई गुणा कम हो जाता है। 

पेट रहे दुरुस्त 

नियमित रुप से कीवी का सेवन करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है। यह गैस, एसिडिटी, अपच, पेट दर्द आदि समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। 

वजन घटाए

अपने बढ़े हुए वजन से परेशान लोगों को इसके अपनी डेली डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। असल में, कीवी कम कैलोरी व अधिक फाइबर वाला फल है। ऐसे में इसके सेवन से वजन कम होने में मदद मिलती है। 

मौसमी बीमारियों से बचाव 

एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर कीवी का सेवन करने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है। ऐसे में सर्दी, जुकाम, बुखार आदि मौसमी बीमारियों से बचाव रहता है। 

अस्थमा से दिलाएं राहत 

अस्थमा के रोगियों के लिए विटामिन-सी से भरपूर चीजें फायदेमंद होती है। ऐसे में विटामिन सी से भरपूर कीवी का सेवन करने से सांस प्रक्रिया सही तरीके से काम करती है। ऐसे में ये अस्थमा होने के खतरे को कम करता है। साथ ही इसके मरीजों के लिए फायदेमंद माना जाता है। 

गर्भावस्था में फायदेमंद 

पोषक व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर कीवी का गर्भावस्था में खाना फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद फोलेट, विटामिन सी शरीर में आयरन की कमी दूर करने में मदद करते हैं। ऐसे में गर्भपात का खतरा कम रहता है। 

posted by -दीपिका पाठक