मधुबनी हत्याकांड के बाद बढ़ा तनाव, करणी सेना ने मुख्य आरोपी के घर में लगाई आग

मधुबनी: बिहार के मधुबनी में एक ही परिवार के पांच लोगों की होली के दिन हत्या के बाद तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले के मुख्य अभियुक्त प्रवीण झा और उसके भाई की गिरफ्तारी के बाद शुक्रवार को करणी सेना के लोगों ने मुख्य आरोपी के घर में न केवल आग लगा दी, बल्कि उनके बूढ़े परिवार वालों की पिटाई भी की. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. 

बता दें कि पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत 6 लोगों को भारत-नेपाल सीमा के पास से गिरफ्तार किया गया था. इस मामले में बिहार में सियासत काफी गरमाई हुई है और इसे जातीय संघर्ष का नाम भी दिया जा रहा है. पुलिस आरोपियों की तलाश में लगातार कई ठिकानों पर दबिश दे रही थी. मधुबनी के एसपी सत्य प्रकाश ने बताया था कि बिस्फी थाना क्षेत्र के एक गांव से हत्याकांड के मास्टरमाइंड प्रवीण झा समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. 

गौरतलब है कि 29 मार्च को होली के दिन हमलावरों ने अंधाधुंध गोलीबारी और धारदार हथियार से हमला कर BSF में तैनात राणा प्रताप सिंह, रणविजय सिंह, वीरेंद्र सिंह उर्फ बीरू सिंह, अमरेंद्र सिंह और रुद्र नारायण सिंह की हत्या कर दी थी. हमले में गंभीर रूप से जख्मी मनोज सिंह का इलाज पटना मेडिकल कालेज अस्पताल में चल रहा है.

एसपी ने इस वारदात की वजह एक तालाब से मछली पकड़ने को लेकर विवाद बताया था. जबकि मीडिया के एक वर्ग में इसे सामूहिक हत्या की संज्ञा देते हुए दो प्रमुख जातियों (ब्राह्मणों और राजपूतों) के बीच क्षेत्र में वर्चस्व को लेकर संघर्ष बताया गया. विपक्षी RJD ने नीतीश कुमार सरकार पर हमला करते हुए दावा किया था कि पुलिस हत्यारों को बचाने की कोशिश कर रही है. RJD का कहना है कि आरोपियों को एक शक्तिशाली स्थानीय BJP नेता का संरक्षण मिला हुआ है.