कहीं आपको भी तो छूकर नहीं निकल गया कोरोना, इन लक्षणों से करें पहचान

जहां एक तरफ दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है वहीं तमाम लोग इसी गलतफहमी है कि वह इस वायरस से सुरक्षित हैं जबकि  ऐसा नहीं है। बता दें कि हर व्यक्ति कोरोना की चपेट में आ चुका है। बस फर्क सिर्फ इतना ही है कि कोई बुरी तरह इस संक्रमण की चपेट में आया तो किसी को इसके लक्षणों की खबर भी नहीं हुई। जी हां, कहर कोई कोरोना की शिकार हो चुका है लेकिन कई लोगों को इसकी भनक तक नहीं लगी।एक्सपर्ट की मानें तो बहुत से लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं लेकिन इम्यूनिटी बेहतर होने की वजह से वायरस उन्हें छूकर निकल गया। ऐसे में लोगों ने 1-2 दिन हल्के सर्दी-जुकाम या बुखार का भी अनुभव किया होगा और जल्दी ठीक भी हो गए होंगे। चलिए आपको 8 ऐसे संकेत बताते हैं जिससे आप पहचान सकते हैं कि क्या आपको भी हुआ था कोरोना

थकान

कोरोना के बाद इम्यूनिटी इतनी कमजोर हो जाती है कि व्यक्ति हर समय थका-थका महसूस करता है। नींद लेने के बाद भी आप थका हुआ महसूस करें तो लापरवाही ना बरतें।

गंध महसूस न होना

अचानक मुंह का स्वाद बदलना या किसी की गंध ना आना कोरोना होने का संकेत हैं। शोध की मानें तो करीब 80ः  लोगों ने ये लक्षण महसूस किए हैं लेकिन अच्छी इम्यूनिटी के कारण बच गए।

शरीर का अधिक तापमान होना

अगर आपके शरीर का तापमान 99-103 है तो समझ लें कि वो व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो चुका है। यह तापमान 3-4 दिन तक बना रहता है, जिसके साथ कंपकपी, ठंड लगना, पीठ व छाती में गर्माहट महसूस होती है।

सीने में दर्द

कोरोना वायरस दिल पर भी बुरा असर डालता है, जिससे सीने में दर्द, सांस लेने में कठिनाई, जकड़न महसूस होती है। अगर आपको भी 2 या इससे ज्यादा हफ्ते तक यहह समस्या रही है तो समझ लें कि आप कोरोना की गिरफ्त में आए हो।

लगातार खांसी

लगातार सूखी खांसी होना भी कोविड-19 के मुख्य लक्षणों में से एक है। शुरूआत में हल्की खांसी हो सकती है लेकिन अगर 5-7 दिनों तक खांसी रह चुकी है तो समझ लें कि आप कोरोना से गुजर चुके हैं।

आंखों का लाल होना

कोविड महामारी के दौरान आंखों को बार-बार छूने व चश्मा लगाने की सलाह दी जा रही थी क्योंकि ये आंखों पर भी असर डालता है। अगर आपको आंखों से पानी आना, कंजेक्टिवाइटिस और धुंधलापन लगे तो यह कोरोना का संकेत हो सकता है।