कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच वाराणसी के डीएम ने घरेलू-विदेशी यात्रियों से की न आने की अपील

वाराणसी: कोविड-19 देश के हर राज्य में तेजी के साथ फैल रहा है. चारों तरफ कोरोना की वजह से हालात बेकाबू होते दिख रहे हैं. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच वाराणसी के डीएम ने घरेलू और विदेशी यात्रियों से अप्रैल महीने तक शहर में ना आने अपील की है. उन्होंने ट्वीट किया है, 'देश-विदेश से वाराणसी आने का कार्यक्रम बनाने वाले सभी व्यक्तियों और यात्रियों से अपील है कि वाराणसी में अभूतपूर्व कोविड संक्रमण फैल जाने की वजह से अप्रैल के पूरे महीने में वाराणसी ना आये.'

बता दें, दो सप्ताह में वाराणसी में कोरोना मरीजों की संख्या हजार पार पहुंच गई है. 31 मार्च को वाराणसी में 116 केस थे, जो संख्या 14 अप्रैल तक 1585 पहुंच गए. अभी वाराणसी जिले में 10206 सक्रिय कोरोना मरीज हैं. लखनऊ और प्रयागराज के बाद वाराणसी में सबसे ज्यादा कोरोना मामले हैं.

साथ ही ट्वीट किया गया है, 'यहां आने वाले श्रद्धालुओं को भी सूचित किया जाता है कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में भी दिनांक 14 अप्रैल से प्रवेश के लिए कोविड नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट आवश्यक कर दी गई है, इसके बिना प्रवेश नहीं दिया जाएगा.' साथ ही लिखा है, 'बाहरी प्रदेशों से आने वाले यात्रियों को शहर में ठहरने के लिए भी शीघ्र कोविड नेगेटिव रिपोर्ट की व्यवस्था लागू की  जाएगी.'

बता दें, उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 संक्रमण से 68 और लोगों की मौत हो गई तथा 20510 नए मरीजों में इस संक्रमण की पुष्टि हुई. नए रोगियों का यह एक दिन का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. सबसे ज्यादा 5433 नए मामले राजधानी लखनऊ में मिले हैं. इसके अलावा प्रयागराज में 1702, वाराणसी में 1585 और कानपुर नगर में 1221 नए मरीजों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है. स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान 68 लोगों की मौत के साथ इस वायरस से राज्य में अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 9376 हो गई है.