टिंडा नापसंद करने वाले जरूर जान लें इसके बेहतरीन फायदे

गर्मियों में टिंडा, लौकी, घिया आदि सब्जियां सबसे अधिक पाई जाती है। बात टिंडे की करें तो इसे बच्चे हो या बड़े ज्यादातर खाना पसंद नहीं करते हैं। मगर असल में, यह पोषक व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण होते हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इसका सेवन करने से पाचन तंत्र मजबूत होने के साथ बेहतर विकास होने में मदद मिलती है। साथ ही इसमें 94 प्रतिशत पानी होेने से डिहाइड्रेशन की परेशानी से बचाव रहता है। 

टिंडा में मौजूद पोषक तत्व 

इसमें विटामिन ए, सी, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, फाइबर, ओमेगा-6 फैटी एसिड, कैरोटीनोइड, एंटी-ऑक्घ्सीडेंट , एंटी-बैक्टीरियल आदि गुण होते हैं। 94 प्रतिशत पानी होने के साथ कम मात्रा में कैलोरी होती है। तो चलिए आज हम आपको टिंडे के बेहतरीन गुणों के बारे में बताते हैं।

डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद 

इसमें कैलोरी कम व फाइबर अधिक होता है। ऐसे में टिंडा शरीर में शर्करा को अवशोषित करके शुगर को नियंत्रित रखने में मदद करता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इसके छिलकों में मौजूद फोटोकेमिकल शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद करता है। 

किडनी रखे स्वस्थ 

यह शरीर में मौजूद गंदगी बाहर निकालने में मदद करता है। ऐसे में किडनी स्वस्थ रहने से पथरी की समस्या होने से बचाव रहता है। 

कैंसर का खतरा करे कम

इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। ऐसे में यह शरीर का फ्री रेडिकल्स से बचाव करता है। यह शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। साथ ही सूजन की समस्या से आराम रहता है। खासतौर पर पुरुषों में होने वाले प्रोस्टेट कैंसर से बचाव रहता है। 

वजन घटाने में असरदार 

इसमें फाइबर अधिक व कैलोरी कम होती है। ऐसे में इसके सेवन से लंबे समय तक भूख शांत रहती है। ऐसे में वजन कंट्रोल रहता है। 

पाचन करे दुरुस्त 

एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर टिंडा पाचन तंत्र मजबूत करता है। इसमें पानी अधिक होने से शरीर डिटॉक्सीफाई होता है। मेटाबॉलिज्म तेज होने के साथ गैस, एसिडिटी कब्ज आदि पेट संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।  

स्ट्रांग इम्यूनिटी

इसमें ग्लोबुलिन नामक प्रोटीन इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है। यह प्रोटीन मुख्य रुप से खून में होता है। ऐसे में टिंडा का सेवन करने से मौसमी व अन्य बीमारियों से बचाव रहता है। कोरोना काल में सबसे ज्यादा हर किसी को इम्यूनिटी बूस्ट करने की सलाह दी जा रही है। ऐसे में इसका सेवन करना बेस्ट ऑप्शन है। 

बुखार कम करने में फायदेमंद 

बुखार की समस्या में टिंडा का सलाद के तौर पर सेवन करना फायदेमंद होता है। इसमें पानी अधिक होने से शरीर की अंदर से सफाई होती है। इसके अलावा इसका पेस्ट बनाकर माथे पर पट्टी की तरह लगाने से भी बुखार कम होने में मदद मिलती है। 

बाल बनेंगे हैल्दी

एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों व पानी से भरपूर टिंडा बालों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। इसके सेवन से बाल हाइड्रेट होने के साथ पोषित होते हैं। ऐसे में रुखे, बेजान बालों की परेशानी दूर होकर बाल सुंदर, घने, मुलायम व शाइनी नजर आते हैं।

स्किन पर जगाए ग्लो

सेहत के साथ टिंडा स्किन के लिए भी फायदेमंद होता है। इसके पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाने से दाग, धब्बे, पिंपल्स, झाइयां, झुर्रियां, सनटैन आदि की समस्या दूर होेने में मदद मिलती है। स्किन को गहराई से पोषण मिलने के साथ लंबे समय तक नमी बरकार रहती है। 

टिंडा सेवन करने के नुकसान

वैसे तो यह सेहत व ब्यूटी को निखारने का काम करता है। मगर इसका अधिक सेवन करने से कुछ समस्याएं हो सकती है। 

- इसके अधिक सेवन से पेट दर्द, अपच, ऐंठन, डायरिया की समस्या हो सकती है। 

- इसके अलावा प्रेग्नेंट और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका सेवन डॉक्टरी सलाह से ही कहना चाहिए। 

posted by -दीपिका पाठक