प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 12,787 नये मामले आये सामने

लखनऊ। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए सर्विलांस, टेस्टिंग तथा टेªकिंग की जा रही है। इसके अलावा जिन जनपदों में कोविड संक्रमण के केस अधिक आ रहे हैं उन जनपदों के सरकारी कार्यालयों व निजी कार्यालयों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ कार्य करने के अलावा रात में आवागमन पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया गया है। बड़ी संख्या में कोविड टेस्टिंग का कार्य करते हुए, टेस्टिंग की क्षमता बढ़ायी गयी है। गत एक दिन में कुल 2,12,213 सैम्पल की जांच की गयी, जो अब तक एक दिन में की गयी कोविड टेस्टिंग में सर्वाधिक है। प्रदेश में अब तक कुल 3,65,57,245 सैम्पल की जांच की गयी है। इसमें लगभग 93,000 सैम्पलों की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से की गयी है। आज विभिन्न जनपदों से 1,00,226 सैम्पल भेजे गये हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 12,787 नये मामले आये है। प्रदेश में 58,801 कोरोना के एक्टिव मामले में से 32,900 लोग होम आइसोलेशन में हैं। निजी चिकित्सालयों में 991 मरीज अपना इलाज करा रहे है तथा शेष मरीज सरकारी चिकित्सालयों में निःशुल्क इलाज भी करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 6,08,853 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,96,005 क्षेत्रों में 5,24,726 टीम दिवस के माध्यम से 3,19,55,355 घरों के 15,49,83,131 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में 45 वर्ष सेे अधिक आयु वालों का कोविड वैक्सीनेशन किया जा रहा है। अब तक 71,87,199 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा 12,31,332 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गयी हैं। इस प्रकार कुल 84,18,531 लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। श्री प्रसाद ने बताया कि कल 11 अप्रैल, 2021 से 14 अप्रैल, 2021 तक टीका उत्सव मनाया जायेगा। इसके लिए आज स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिस कारण सिर्फ मेडिकल काॅलेजों तथा जिला अस्पतालों में ही कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। उन्होंने 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों से अनुरोध किया है कि इस टीका उत्सव में सम्मिलित होकर अपना कोविड टीकाकरण अवश्य करवाएं। इसके साथ-साथ उन्होंने लोगों से अपील किया है कि टीकाकरण केन्द्रों पर अधिक सावधानी बरतते हुए लोगांे से दूरी बनाकर अपना टीकाकरण करवाएं। श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड संक्रमण नियंत्रित करने के लिए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम निगरानी समिति, मोहल्ला निगरानी समिति को पुनः सक्रिय किया गया है। इन समितियों के माध्यम से संक्रमण वाले प्रदेशों से आने वाले लोगों की पहचान कर, उनसे संक्रमण की जानकारी लेते हुए आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने प्रदेश के बाहर से आने वाले लोगों से अपील की गयी है कि वे अपनी सामाजिक जिम्मेदारी समझे और घर में ही 10 से 14 दिन रहे। संक्रमण का कोई भी लक्षण दिखायी देने पर कोविड-19 की जांच अवश्य कराये। इससे स्वयं को और अपने परिवार को कोविड-19 से सुरक्षित किया जा सकेगा।श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड संक्रमण को देखते हुए अत्यधिक सावधान रहना जरूरी है। मास्क का प्रयोग समाज के प्रति जिम्मेदारी व सामाजिक उत्तरदायित्व का पालन है। उन्होंने बताया कि संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। अपने हाथ को साबुन-पानी से निरन्तर धोते रहें। भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। उन्होंने कहा कि घर के बड़े-बुजुर्गों का टीकाकरण अवश्य कराएं।