कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय व कॉलेज 21 अप्रैल तक बंद, टलीं परीक्षाएं

कोरोना की दूसरी लहर में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं कॉलेजों को 21 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है। इविवि में बीते दिनों में शिक्षक समेत 40 कर्मचारी संक्रमित पाए गए। इसके अलावा दो लोगों की मौत हो चुकी है। इसके चलते विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। 10 अप्रैल से होने वाली विषय सेमेस्टर समेत सभी परीक्षाएं भी टाल दी गई हैं। कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव ने अपील की है कि महामारी के दौर में सभी लोग घर पर रहें और सुरक्षित रहें।

पीआरओ डॉ. जया कपूर ने बताया कि बैठक में अन्य कई अहम निर्णय भी लिए गए। उन्होंने बताया कि 21 अप्रैल तक इविवि समेत कॉलेज पूरी तरह से बंद रहेंगे। इसके अलावा ऑनलाइन मोड में चल रहीं सभी परीक्षाएं भी टाल दी गई हैं। परीक्षा की नई तिथि जल्द परीक्षा नियंत्रक की ओर से जारी की जाएगी। इसकी सूचना इविवि की आधिकारिक वेबसाइट के अलावा मीडिया के माध्यम से दी जाएगी। शिक्षक इस अवधि में घर से ऑनलाइन कक्षाएं लेंगे। हॉस्टलों में रहने वाले सभी छात्र-छात्राओं से कहा गया है कि वह जल्द हॉस्टल खाली कर घर चले जाएं। यदि हॉस्टल में कोई रहता है तो इविवि प्रशासन की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी। सभी कर्मचारियों से वैक्सीन लगवाने के बाद वैक्सीन सर्टिफिकेट रजिस्ट्रार को ई-मेल से भेजने की अपील की गई है। पीआरओ ने बताया कि 12 अप्रैल को प्रस्तावित कला संकाय की फैकल्टी बोर्ड की बैठक भी टाल दी गई। अब विश्वविद्यालय खुलने के बाद बैठक की नई तिथि जारी की जाएगी।  परीक्षा नियंत्रक प्रो. रमेंद्र कुमार ने बताया कि कोरोना के चलते 10 से 21 अप्रैल तक होने वाली ऑनलाइन परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है।  

ट्रिपलआईटी भी 18 अप्रैल तक बंद

ट्रिपलआईटी भी कोरोना के चलते एहतियातन 18 अप्रैल तक बंद रहेगा। इस अवधि में शिक्षण एवं प्रशासनिक कार्य ऑनलाइन मोड में होंगे। संस्थान के निदेशक प्रो. पी नागभूषण के निर्देश पर कार्यवाहक कुलसचिव प्रो. विजयश्री तिवारी ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। साथ ही छात्र-छात्राओं को हॉस्टल खाली कर घर जाने के लिए भी कहा गया है।