बाराबंकी से आई हुई एसआईटी टीम ने मऊ के श्याम संजीवनी हॉस्पिटल में लगभग 2 घंटे एंबुलेंस प्रकरण में की पुछताछ

उमाकांत त्रिपाठी

 मऊ : उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में आज बाराबंकी पुलिस डॉ अलका राय से एंबुलेंस प्रकरण में पूछताछ करने के लिए पहुंची।  बाराबंकी पुलिस डॉ अलका राय से करीब 2 घंटे तक लगातार एक बंद कमरे में पूछताछ करती रही । बाराबंकी से आई हुई 5 सदस्य टीम में 2 महिला पुलिस कांस्टेबल भी पूछताछ के दौरान मौके पर मौजूद रही।  हालांकि इस पूछताछ में मऊ जनपद की कोतवाली पुलिस के कोतवाल डीके श्रीवास्तव भी पूछताछ में मौजूद रहे  ।

2 घंटे चली पूछताछ के बाद जब बाराबंकी पुलिस के इंस्पेक्टर मारकंडेय सिंह बाहर निकले तो उनसे मीडिया ने बात करने की कोशिश की तो पहले उन्होंने मना कर दिया लेकिन मीडिया के लगातार सवालों के बाद सिर्फ इतना ही बोल पाए कि अभी मामले की जांच चल रही है जांच के बाद जो बातें सामने आएंगी उनको बताया जाएगा ।पूछताछ के बाद बाराबंकी पुलिस वापस चली गई ।

पूरे प्रकरण पर अलका राय से मीडिया ने बात किया तो अलका राय का कहना था कि यह मेरे विरोधियों की साजिश और मुझे फंसाया जा रहा है हालांकि बाराबंकी पुलिस ने बहुत सारे सवालों की पूछताछ की जिसमें प्रमुख रुप से वोटर आईडी कार्ड पर एंबुलेंस जारी हुआ था वोटर आई कार्ड पर मेरे फोटो लगे हुए थे लेकिन उस पर मेरा सिग्नेचर नहीं था इसी तरीके के और कई सवाल थे जिसको बाराबंकी पुलिस ने पूछताछ के दौरान उन्होंने मेरे साथ बातचीत की पूरी रिकॉर्डिंग किया और उसको अपने साथ के लिए डॉ अलका राय ने कहा कि मुझे न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है और मुझे न्याय मिलेगा। हालांकि उन लोगो ने मेरा वोटर आईडी कार्ड भी ले गए।