पश्चिम बंगाल के लिए कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में ‘G-23’ के बड़े नाम शामिल नहीं

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए बनाई गई कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कई अन्य नेताओं के नाम शामिल हैं, लेकिन ‘G-23' के सीनियर नेताओं गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा और कपिल सिब्बल को इसमें जगह नहीं मिली नहीं है. सूत्रों के मुताबिक, पार्टी की ओर से 40 स्टार प्रचारकों की जो लिस्ट चुनाव आयोग को सौंपी गई है उनमें सोनिया, मनमोहन सिंह और राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम शामिल हैं.
इस लिस्ट में आजाद, शर्मा और सिब्बल जैसे वरिष्ठ नेताओं के नाम शामिल नहीं हैं, जो ‘जी 23' में शामिल हैं. इस समूह से सिर्फ जितिन प्रसाद और अखिलेश प्रसाद सिंह को स्टार प्रचारों में जगह दी गई है. प्रसाद पार्टी के पश्चिम बंगाल प्रभारी हैं तो सिंह राज्यसभा सदस्य हैं. ‘ग्रुप 23' से जुड़े विवाद और पार्टी में गुटबाजी के आरोपों पर शर्मा ने बुधवार को कहा था कि कांग्रेस में कोई अलग-अलग गुट नहीं हैं और पूरी पार्टी सोनिया गांधी की अध्यक्षता में एकजुट है.
शर्मा के इस बयान से कुछ दिनों पहले ‘ग्रुप 23' में शामिल एक और वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने भी कहा था कि वह और उनके साथी आगामी चुनावों में पार्टी के लिए प्रचार करेंगे और कांग्रेस को जीत दिलाना उनकी शीर्ष प्राथमिकता है. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की तरफ से रणदीप सुरजेवाला, सचिन पायलट, अधीर रंजन चौधरी, नवजोत सिद्धू और कई अन्य नेताओं को स्टार प्रचारक बनाया गया है.
बता दें कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस वाम दलों और इंडियन सेक्युलर फ्रंट के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, छह अप्रैल, दस अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को अलग-अलग क्षेत्रों में वोट डाले जाएंगे. प्रदेश में कुल 294 विधानसभा सीटें हैं.