हिंद-प्रशांत को अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण देने में सक्षम है क्वाड: अमेरिकी राजनयिक

वाशिंगटन : अमेरिका के एक वरिष्ठ राजनयिक ने हाल ही में सम्पन्न हुए क्वाड शिखर सम्मेलन को ‘‘ऐतिहासिक’’ करार देते हुए कहा कि भारत सहित इस समूह के सभी चार देशों की रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण हिंद-प्रशांत क्षेत्र में एक अहम भूमिका है। उल्लेखनीय है कि ‘चतुर्भुज सुरक्षा संवाद’ (क्वाड) की पिछले सप्ताह डिजिटल माध्यम से पहली शिखर बैठक हुई थी। भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान इसका हिस्सा है। इसका गठन 2007 में हुआ था।
पूर्वी एशियाई एवं प्रशांत मामले के प्रधान उप सहायक मंत्री अतुल केशप ने मंगलवार को ‘पर्थ यूएसएशिया सेंटर एंड यूएस स्टडीज सेंटर कॉन्फ्रेंस’ में कहा, ‘‘ क्वाड के सदस्य हिंद-प्रशांत क्षेत्र को वह सकारात्मक दृष्टिकोण देने में सक्षम हैं, जो हम सभी चाहते हैं।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया क्षेत्र के कई मुद्दों से निपटने के लिए एकसाथ काम कर रहे है। केशप ने कहा, ‘‘ पिछले सप्ताह हुआ क्वाड शिखर सम्मेलन एक ऐतिहासिक पल था और इसने विश्व की अहम चुनौतियों से निपटने के लिए हमारी क्षमताओं को एकसाथ लाने और सहयोग की आदत बनाने की क्वाड की क्षमता को प्रदर्शित किया है।’’
उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन का प्रशासन कोविड-19 और जलवायु परिवर्तन की समस्याओं से निपटने की दिशा में सहयोग और प्रगाढ़ करने का इच्छुक है। उन्होंने यह भी कहा कि क्वाड हिंद-प्रशांत के लिए कोविड-19 के टीकों का निर्माण बढ़ाने और टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए संयुक्त प्रयास कर रहा है।