छोटी किशमिश के बड़े फायदे, सही तरीके से खाएंगे तो होगी इन रोगों की छुट्टी

किशमिश जिसे हम सूखे मेवे के रूप में जानते हैं यह इतनी लाभदायक है कि आप सोच भी नहीं सकते। शरीर में खून की कमी हो जाए तो कई बीमारियों के होने का खतरा बढ़ता है। ऐसे में किशमिश में पाए जाने वाले आयरन, कैल्शियम, फाइबर आदि तत्व का नियमित रुप से सेवन करने से शरीर में खून की कमी पूरी होती है। इसे सूखा खाने के अलावा इसका पानी पीने से भी शरीर को फायदा मिलता है। किशमिश खाने के भी बहुत सारे फायदे हैं लेकिन इसे खाने का सही तरीका आपको पता होना चाहिए। 

किशमिश के भिगोकर खाएं 

50 ग्राम किशमिश को अच्छे से साफ कर 2 से 3 बार पानी से धो लें। बाद में इसे 1 गिलास पानी में रातभर भिगोकर रख दें। सुबह उठकर खाली पेट किशमिश खाने के साथ इसका पानी भी पीएं। 

किशमिश का पानी पीने के फायदे

किशमिश का पानी पीने से भी कई लाभ मिलते है। किशमिश में आयरन, पोटाशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फाइबर आदि तत्व पाए जाते हैं जिसके सेवन से शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। साथ ही शरीर में होने वाली खून की कमी तेजी से पूरी होती है।

किशमिश से शरीर को मिलेंगे ये फायदे-

पाचन शक्ति

किशमिश का नियमित मात्रा मे सेवन करने से पाचन शक्ति बढ़ती है। एक गिलास पानी में 12 किशमिश भिगो कर खाने से पेट साफ होता है।

वजन बढ़ाने में मदद

दुबले-पतले लोगों को वजन बढ़ाने के लिए रोजाना किशमिश का सेवन करना चाहिए। यह सही वजन दिलाने के साथ एनर्जी लेवल बढ़ाने में भी फायदेमंद होता है। 

कैंसर से बचाव

सूखे किशमिश का सेवन करने से शरीर में कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के होने का खतरा कम होता है। यह शरीर में कैंसर सेल्स को पनपने से रोकता है। 

मुंह से बदबू आना

अक्सर कई लोगों को मुंह से बदबू आने की शिकायत रहती है ऐसे में किशमिश का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा मिलता है।

डायबिटीज

इसमें नेचुरल शुगर होती है इसलिए यह शुगर के मरीजों के लिए लाभकारी होती है। यह डायबिटीज को कंट्रोल करता है और इंसुलिन को नियंत्रित रखता है।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल

हाई ब्लड प्रेशर के लिए यह सबसे अधिक फायदेमंद है। यह ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है। इसमें पाया जाने नाला पोटैशियम तत्व हाइपरटेंशन से बचाव करता है।

खून की कमी करें पूरी 

इसमे आयरन अधिक मात्रा में पाया जाता है इसलिए यह एनीमिया से बचाव करता है। इसके अलावा इसमें कॉपर भी होता है जिससे रेड ब्लड सेल्स बनते हैं और खून कमी नहीं होती।

मजबूत हड्डियां

इसमें पोटेशियम और पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डियों को मजबूत करता है। इससे ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम हो जाता है।

posted by -दीपिका पाठक