भाजपा सरकार के ऊर्जा मंत्री का भाजपा के कार्यकर्ता ही नहीं मानते आदेश

फतेहपुर। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा जहां अभी हाल ही में बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने का निर्देश देते हुए उत्तर प्रदेश के समस्त अधिशासी अभियंताओ को निर्देश जारी करते हुए बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने का आदेश पारित कर रहे हैं उनका यह आदेश भले ही अन्य जनपदों में लागू हो रहा हूं किंतु जनपद फतेहपुर में विद्युत वितरण खंड प्रथम के अंतर्गत पटेल नगर चैराहे के समीप बन रहे भाजपा कार्यालय मैं डायरेक्ट विद्युत की सप्लाई ट्रांसफार्मर से की जा रही है दिनदहाड़े कटिया लगाकर कार्यालय में सप्लाई दी जा रही है और संबंधित अधिकारी मौन धारण किए हुए हैं क्योंकि यह सत्ता पक्ष का कार्यालय हैं उनके खिलाफ आखिर कौन कार्यवाही करने की हिम्मत जुटा सकता है यदि किसी गरीब ने बिजली चोरी की होती तो उसके ऊपर बिजली विभाग के आला अधिकारी मुकदमा पंजीकृत कराते हुए एक लंबे जुर्माना की प्रक्रिया पूरी करते हैं परंतु भाजपा सरकार का कार्यालय बनने के कारण कार्यालय में कहीं भी किसी भी तरह से डायरेक्ट सप्लाई जोड़ने का आखिर अधिकार किसने दिया वही जब इस बात की शिकायत करने के लिए अधिशासी अभियंता व  उपखंड अधिकारी को सैकड़ों बार फोन करने के बावजूद भी फोन उठाना मुनासिब नहीं समझते वही अवर अभियंता से शिकायत करने के बावजूद भी अवर अभियंता ने भाजपा कार्यालय में कार्यवाही करना मुनासिब नहीं समझा क्या इसी तरीके उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री का सपना साकार होगा या सत्ता पक्ष के लोगों के लिए उनका आदेश हवा हवाई साबित होता है!