भारत की अध्यक्षता में होगी ब्रिक्स संपर्क समूह की पहली बैठक

नई दिल्ली : भारत की अध्यक्षता में ‘आर्थिक एवं व्यापारिक मुद्दों पर ब्रिक्स संपर्क समूह’ की पहली बैठक आयोजित की गयी जिसमें सभी सदस्यों के बीच सहयोग बढ़ाने के तौर तरीकों पर विचार-विमर्श किया गया। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने शुक्रवार को यहां बताया कि इस बैठक का आयोजन नौ से 11 मार्च तक किया गया। बैठक में भारत ने 2021 में कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी और इस संबंध में रूपरेखा पेश की, जिसमें सेवा सांख्यिकी और ब्रिक्घ्स व्यापार मेलों पर छोटे उद्योग गोलमेज सम्मेलन और अन्य कार्यक्रमों का ब्योरा है। इसके अलावा बैठक में रूस की अध्यक्षता में 2020 में अंगीकृत ‘ब्रिक्स आर्थिक साझेदारी रणनीति 2025’ के लिए दस्तावेज आधारित संबंधी कार्य योजना, विश्व व्यापार संगठन में ट्रिप्घ्स रियायत प्रस्ताव वाला बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली पर ब्रिक्स सहयोग, ई-कॉमर्स के क्षेत्र में उपभोक्ता संरक्षण के लिए रूपरेखा, गैर-शुल्क उपाय (एनटीएम) प्रस्घ्ताव प्रक्रिया, स्वच्छता एवं फाइटो-सेनेटरी (एसपीएस) कार्य प्रणाली, आनुवांशिक संसाधनों और पारम्परिक ज्ञान की सुरक्षा के लिए सहयोगात्मक ढांचा और पेशेवर सेवाओं में सहयोग के लिए ब्रिक्स फ्रेमवर्क पर जानकारी दी गयी। ब्रिक्स के सदस्य देशों ने भारत की नियोजित गतिविधियों की सराहना की, जो मौजूदा समय में काफी प्रासंगिक है और इन देशों ने भारत की ओर से सुझाए गए विभिन्न प्रस्तावों पर मिलकर काम करने का समर्थन किया है। इसके अलावा सितंबर, 2021 तक अंतर सत्रात्मक विचार-विमर्श किया जाएगा, ताकि ब्रिक्स देशों के बीच आम सहमति बनाई जा सके।