दिल्लीः व्यक्ति ने खुद को दुर्घटनावश गोली मारकर घायल किया, जांचकर्ताओं को भटकाने के लिए गढ़ी कहानी

दिल्ली : दिल्ली में 30 वर्षीय नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवक ने दुर्घटनावश खुद को गोली मार ली और उसके बाद यह कहानी गढ़ी कि उसे यहां के नेब सराय इलाके में कथित तौर पर बाइक सवार दो व्यक्तियों ने गोली मारी। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह कहा। उन्होंने बताया कि सुजीत कुमार नेब सराय इलाके में इंदिरा एनक्लेव में किराए के घर में पत्नी और दस वर्षीय बेटे के साथ रहता है। वह वाहन चालक के तौर पर भी काम करता है। पुलिस ने बताया कि कुमार का एम्स के ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है और उसकी हालत खतरे से बाहर है। उन्होंने बताया कि बुधवार को कुमार ने गलती से खुद को गोली मार ली और उसके बाद पीसीआर पर कॉल करके पुलिस को सूचित किया कि मोटरसाइकिल सवार दो व्यक्तियों ने उसे उसके घर के नजदीक गोली मारी। गोली उसके बाएं घुटने में लगी। कुमार ने पुलिस को बताया कि वह अपने घर के नजदीक एक उद्यान के पास सिगरेट पी रहा था तभी मोटरसाइकिल पर सवार दो लोग वहां आए। उनके साथ कुमार की किसी बात को लेकर बहस हो गई जिसके बाद आरोपियों ने उस पर गोली चलाई और वहां से भाग निकले।

पुलिस ने बताया कि इस घटना के संबंध में भारतीय दंड संहिता और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया। इसके बाद पूछताछ शुरू हुई। इसमें कुमार ने सवालों के ठीक से जवाब नहीं दिए और जांचकर्ताओं को भटकाने का प्रयास करता रहा। एक अधिकारी के मुताबिक एक चश्मदीद ने पुलिस को बताया कि न तो उसने ऐसी कोई घटना देखी और न ही गोली की आवाज सुनी। पुलिस को घटनास्थल पर खून भी नहीं मिला। कुमार की पत्नी ने पुलिस के फोन नहीं उठाए और जांच में शामिल नहीं हुई। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि कुमार से जब फिर से पूछताछ की गई तो उसने स्वीकार कर लिया कि पंद्रह दिन पहले उसका कुछ पड़ोसियों से विवाद हो गया था। उन्होंने बताया, ‘‘पड़ोसी लड़कों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि बुधवार सुबह कुमार उन्हें पिस्तौल दिखाता हुआ निकला था। वह पिस्तौल अपने कमरे में ले गया और कुछ मिनट बाद वह और उसकी पत्नी कमरे से बाहर निकले तथा कुमार गोली लगने से घायल था।’’ उन्होंने बताया, ‘‘लड़कों ने कहा कि उन्होंने कुमार की मदद करनी चाही लेकिन उसने इनकार कर दिया और पुलिस को फोन कर दिया। लड़कों ने कहा कि उन्होंने कुमार की पत्नी को पिस्तौल अपने साथ लेकर जाते देखा। उसने कमरे में ताला लगा दिया था।’’

ठाकुर ने बताया कि पूछताछ में महिला ने कहा कि उसके पति ने दुर्घटनावश खुद को गोली मारकर घायल कर लिया। वह अपने दोस्त से पिस्तौल लाया था। महिला ने कहा कि उसने पति को बचाने के लिए पिस्तौल अपने एक संबंधी के घर पर छिपा दी थी। पुलिस ने बताया कि तीन कारतूस के साथ पिस्तौल बरामद कर ली गई है। कुमार के खिलाफ तीन मामले पहले से दर्ज हैं।