क्वॉड के नेताओं के बीच पहली बैठक आयोजित, बोले पीएम मोदी

नई दिल्ली: क्वॉड के चारों सदस्य देश भारत, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान की शुक्रवार को पहली बैठक ऑनलाइन आयोजित की गई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्वॉड समिट के शुरुआती संबोधन में कहा कि भारत के प्राचीन दर्शन वसुधैव कुटुंबकम के विस्तार को वह सकारात्मक दृष्टिकोण से देखते हैं, जो पूरी दुनिया को एक परिवार मानता है. हम परस्पर सहयोग को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. हम साझा मूल्यों के साथ धर्मनिरपेक्ष, स्थिर और समृद्ध हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के देशों के बीच सहयोग बढ़ाएंगे.

विदेश सचिव हर्षवर्धन शृंगला ने बैठक के बाद बताया, प्रधानमंत्री ने (First Quad Leaders' Virtual Summit) ने कहा कि यह साझेदारी दुनिया के कल्याण के लिए है. आज का सम्मेलन दिखाता है कि क्वॉड नेताओं ने सकारात्मक एजेंडा और दृष्टिकोण अपनाया है. वैक्सीन, क्लाइमेट चेंज और उभरती प्रौद्योगिकी जैसे समकालीन मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया है. 

क्वॉड वैक्सीन की पहली बेहद महत्वपूर्ण है. हम वैक्सीन पर शोध-विकास, उत्पादन और फंडिंग के लिए मिलकर काम करेंगे. हिन्द प्रशांत क्षेत्र में वैक्सीन के वितरण निर्माण और लॉजिस्टिक्स की क्षमता बढ़ाई जाएगी.शृंगला ने कहा कि वैक्सीन इनीशिएटिव से भारत की वैक्सीन निर्माण क्षमता और बेहतर होगी. भारत इस मुहिम में पूरी तन्मयता से भागीदारी करेगी. यह वैक्सीन सप्लाई चेन भरोसे से बनी है और इसी संदेश को आगे लेकर जाएगी.

ऑस्ट्रेलियाई पीएम ने कहा कि यह हिन्द प्रशांत क्षेत्र होगा, जो 21वीं सदी में दुनिया की किस्मत को तय करेगा. हम हिन्द प्रशांत क्षेत्र की चार महान लोकतांत्रिक शक्तियां हैं. हम अपनी साझेदारी के जरिये शांति, स्थिरता और समृद्धता को मजबूत करने के साथ क्षेत्र के अन्य देशों को अपने साथ आगे ले जाएंगे.जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने भी इस वर्चुअल समिट में हिस्सा लिया.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि उनका देश इस क्षेत्र में स्थिरता के लिए क्वॉड के सदस्य देशों और क्षेत्र के अन्य सहयोगियों के साथ काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है. यह समूह विशेष तौर पर महत्वपूरम है, क्योंकि यह व्यावहारिक समाधानों और ठोस परिणामों पर फोकस करता है. बाइडेन ने कहा कि हम एक महत्वाकांक्षी संयुक्त साझेदारी की शुरुआत करने जा रहे हैं, जो वैक्सीन का उत्पादन तेज कर पूरी दुनिया को लाभ पहुंचाएगी. इससे हिन्द प्रशांत के पूरे क्षेत्र को टीकाकरण में लाभ होगा.

क्वॉड यानी चार देशों का सुरक्षा संवाद अमेरिका, जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया का अनौपचारिक रणनीतिक फोरम है. वर्ष 2017 में चीन के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता के तौर पर यह चर्चा में आया. क्वॉड उन चार देशों के एक मजबूत समूह है, जिनका हाल ही के वर्षों में चीन के साथ किसी न किसी मुद्दे पर टकराव रहा है.