कंचनपुर में पुराने जर्जर मकान के निकास द्वार की दिवाल गिरने से पांच वर्षीय बालिका की मौत

बलिया । रेवती थानाक्षेत्र के  कंचनपुर गांव में पुराने जर्जर मकान के निकास द्वार की दिवाल गिरने से पायल (5) पुत्री प्रभुनाथ गुप्ता की घटना स्थल पर ही मौत हो गई जबकि गंभीर रूप से घायल आर्यन (7) व प्रियंका (5) पुत्री रामजी गुप्ता का ईलाज सदर अस्पताल में चल रहा है पायल अपने पड़ोस के राम जी गुप्ता के लड़के आर्यन व पुत्री प्रियंका के साथ सोमवार को सुबह 10 बजे प्राथमिक विद्यालय  कंचनपुर के समीप शंभूनाथ मिश्र के घर से ट्यूशन पढ़ कर स्व द्वारिका मिश्र के मकान के जर्जर निकास द्वार से घर आ रही थी । इसी दौरान लोहे के दरवाजा सहित दिवाल गिरने से तीनों बच्चे उस में दब कर घायल हो गये । अचानक दिवाल गिरने तथा बच्चो की चीख सुनकर आस पास के लोग दौड़े तथा आनन फानन में बच्चों को बाहर निकाला । इस बीच  पायल की घटना स्थल पर ही मौत हो गई।  जबकि गंभीर रूप से घायल दोनो बच्चों को ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया । परिजनों द्वारा आपसी रजामंदी से बच्ची का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया । इस घटना से पूरे गांव में शोक की लहर छा गई । 

इस घटना से मृतक की मां ज्योति देवी सदमे से गुमशुम व बदवास है। पिता प्रभुनाथ को सहसा अब भी विश्वास नही हो रहा है कि उसकी पुत्री नही रही । पायल से बड़ा भाई रविकान्त व बहन संध्या को समझ में नही आ रहा है कि ये सब कैसे क्या हुआ । पायल की इस असमायिक मौत से परिजनों के चित्कार से आस पास के लोगों की आंखे भी नम हो जा रही थी । घटना स्थल पर पत्थर पर बच्ची की पुस्तक भी पड़ी हुई थी। अभी उसका नाम प्राथमिक विद्यालय कंचनपुर मे  नही लिखावाया गया था। ऐसे ही मुहल्ले के बच्चो के साथ पढ़ने जाया करती थी ।