मेरी पलटन दिल की धड़कन


हिंद की सारी सेनाओं में ,लगती सबसे न्यारी है ।
मेरी पलटन दिल की धड़कन,मुझको जां से प्यारी है।।

              वीर अहीरों की ये पलटन ,
              डबल फर्स्ट से जानी जाती।
              बुलंद हौसले , अटल इरादे ,
              जिस दम पर जानी जाती ।
मुसिबतों से लड़ने को सदा , रखती ये तैयारी है ।
मेरी पलटन दिल की धड़कन,मुझको जां से प्यारी है।।

              खतरों से लड़ने की आदत,
              जो अभिरुचि में शामिल है।
              हर क्षेत्र में हर एक सैनिक ,
              निर्भिकता संग काबिल है।
मनसूबे पूरे करने की , नित रहती शीश खुमारी है ।
मेरी पलटन दिल की धड़कन,मुझको जां से प्यारी है।।

              गीत भोजपुरी, राजस्थानी,
              साथ रागनी गायी जाती ।
              दाल-चूरमाँ, हलवे के संग,
              खीर पुटिंग में खायी जाती।
रंग बिरंगे फूलों की यह हँसती खिलती फुलवारी है ।
मेरी पलटन दिल की धड़कन,मुझको जां से प्यारी है।।

              आस्मां संग करें अचम्भा,
              पहाड़, पेड़, नदी और नाले।
              धरती माँ धीरज खो देती ,
              देखे जब पैरों के छाले ।
मेहनत से मंजिल पाने की , जज्बे संग जंग जारी है ।
मेरी पलटन दिल की धड़कन,मुझको जां से प्यारी है।।

नफे सिंह योगी मालड़ा
महेंद्रगढ़ हरियाणा