कर्ज लेकर कोरोना से निपटेगा पाकिस्तान, आईएमएफ ने दी मंजूरी

इस्लामाबाद : पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने बड़ी राहत दी है। आईएमएफ ने आर्थिक मोर्चे पर बुरी तरह घिरी इमरान खान की सरकार को 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर के कर्ज के भुगतान की मंजूरी दे दी है। कोरोना महामारी और आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को इस कर्ज से लोगों का जीवन बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। खास बात यह है कि आईएमएफ से पाकिस्तान को राहत ऐसे समय मिली है जब भारत के साथ उसके अच्छे संबंधों की सुगबुगाहट शुरू हुई है।
आईएमएफ के एग्जीक्यूटिव बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद पाकिस्तान को तत्काल 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर का भुगतान होगा। आईएमएफ ने अपने एक बयान में कहा कि पाकिस्तान को आने वाले समय में करीब दो अरब अमेरिकी डॉलर का कर्ज मिलेगा। इसको लेकर आईएमएफ ने कहा है कि 'कोरोना संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को इस कर्ज से अपने लोगों की आजीविका में सुधार लाने और अर्थव्यवस्था के लिए नीतियां बनाने में मदद मिलेगी। यह राहत आर्थिक गतिविधियों को गति देने के साथ-साथ ऋण में स्थिरता लाएगी। इससे देश में होने वाले विकास से पाकिस्तानी लोगों को लाभ पहुंचेगा।'
गौरतलब है कि इमराम के सत्ता में आने के बाद अर्थव्यवस्था और डंवाडोल हो गई। इमरान खान की सरकार इस समय कोरोना, महंगाई, भ्रष्टाचार सहित आर्थिक मोर्चे जैसे आंतरिक समस्याओं से घिरी हुई है। फाइनेंशियल एक्शन टॉस्क फोर्स (एफएटीएफ) में मामला चलने की वजह से उसे अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से कर्ज मिलना करीब-करीब बंद हो गया है। ऐसे में आईएमएफ ने उसे एक बड़ी राहत दी है। इमरान खान कुछ दिनों पहले कह चुके हैं कि फंड की कमी होने के चलते उनकी सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा पर ज्यादा खर्च नहीं कर पा रही है।