बस इतना किरदार मिले

सौभाग्यशाली  होने  का इक ,अवसर अगर उधार मिले ।

हे!भगवान हर जन्म में मुझको डबलफर्स्ट परिवार मिले।

            मुख्य द्वार अहीरों की ढाणी,

            मैं पढ़ूँ और  अभिमान करूँ।

            शहीद हुए हर इक सैनिक का,

            मैं  तहेदिल से सम्मान करूँ ।

वीर  अहीर  पलटन  के प्यारे, सैनिकों  का  प्यार मिले ।

हे!भगवान हर जन्म में मुझको डबलफर्स्ट परिवार मिले।

            अन्यपद अधिकारी मिलकर,

            एक  साथ  सभी  काम  करें।

            आसमान  छोटा  पड़  जाए,

            हम  इतना  ऊँचा  नाम करें ।

अनुशासन और प्रशिक्षण,हर सैनिक को श्रृंगार मिले ।

हे!भगवान हर जन्म में मुझको डबलफर्स्ट परिवार मिले।

            जब शहीद स्मारक शीश झुके,

            तो   खून   रगों   में  गर्माए  ।

            खड़ी   द्वारे   जीत   देखकर  ,

            आसूँ    आँखों   में   शर्माए  ।

वीर अहीरों की विजय को, एक विस्तृत विस्तार मिले ।

हे!भगवान हर जन्म में मुझको डबलफर्स्ट परिवार मिले।

            बजरंगबली,दादा कृष्ण का,

            हाथ  उठाकर  नारा  लाऊँ ।

            आक्रामक  जोशीले  सूर  में ,

            अजीतअभीत जयकारा लाऊँ।

सामान्य से इस अभिनेता को,बस इतना किरदार मिले ।

हे!भगवान हर जन्म में मुझको डबलफर्स्ट परिवार मिले।

नफे सिंह योगी मालड़ा 

महेंद्रगढ़ हरियाणा