आलाकत्ल सहित मुन्शीगंज पुलिस ने दो को किया गिरफ्तार

थानाध्यक्ष मुन्शीगंज रविन्द्र सिंह ने 9 वर्षीय बालक की हत्या का किया अतिशीघ्र खुलाशा। 

9 वर्षीय बालक का हत्यारा निकला चाचा।

ब्यूरो प्रमुख श्रीकान्त द्विवेदी/अमेठी।जनपद अमेठी पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह के निर्देशन मे , अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार पाण्डेय के पयेवेक्षण मे व क्षेत्राधिकारी गौरीगंज गुरुमीत सिंह के कुशल नेतृत्व मे अन्तर्गत थाना क्षंेत्र मुन्शीगंज गाॅव देवी चरन का पुरवा मे दिनांक 05 मार्च 2021 को शाम पीडिता मालती पत्नी राम विलोन अपने पुत्र और पुत्री के साथ अलग-अलग चारपाई पर सो रहे थे कि रात्रि लगभग 11 बजे सोर सुनकर मै जाग गई तो देखा कि सुखदेव मुॅह मे कपडा बाॅधे हुए हाथ मे बाॅका खून से सना हुआ मेरे बेटे धीरज का का सोते गले पर वार पर वार कर गला काट डाला,यह कृत्य देख एक पल के लिए मै किंककर्तव्य विमूढ हो गई पर फिर दूसरे पल मैने देखा कि मेरे कलेजे के टूकडे का सिर व धड अलग हेा गया वह दो टूकडो मे काट डाला गया है तब मै स्वम् को न रोक सकी और उसे बचाने दौडी तब तक खूनी दरिन्दे ने मुझपर भी जान से मार डालने की नियत से मेरे बेटे के खून से सना हुआ बाॅका मेरे सर पर भी दे मारा जिससे मै घायल होकर गिर पडी तब उसने बगल पास मे रखी ईट से मेरे सर पर वार किया और भाग गया।जिसे मैने भली भाॅति पहचान लिया है।चार दिन पूर्व सुखदेव पुत्र ननकू नि0 देवीचरन का पुरवा थाना मुन्शीगंज से घर व जमीन के बटवारे को लेकर विवाद चल रहा था दौरान विवाद उसने धमकी दिया था कि मै तुम्हारे परिवार का सर्वनाश कर दूूॅगा।जिसके सम्बन्ध मे थाना मुन्शीगंज मे मु0अ0सं0-35/21 धारा 302,307,506,120बी भादवि पंजीकृृत कर कार्यवाही जारी थी कि मालती पत्नी रामविलोन के प्रार्थना पत्र दिनांक 6 मार्च 2021 वादिनी द्वारा अभियुक्त रंजीत कुमार पुत्र रामदेव निवासी देवी चरन का पुरवा मजरे दुलापुर कला थाना मुन्शीगंज  तथा रंजीत का साला अमर नाथ पुत्र संतोषी नि0 कादीपुर मजरे सालपुर थाना मुसाफिरखाना दोनो को दिनांक 10 मार्च 2021 को समय करीब 10ः30 बजे दिन मे मुखबिर की सूचना पर थानाध्यक्ष मुन्शीगंज रविन्द्र सिंह द्वारा मय हमराह देखभाल क्षेत्र लगे थे कि अचानक मुखबिर से प्राप्त सूचना पर तत्पर्यता दिखाते हुए किटियावाॅ मोड के पास मो0सा0 सं0-यूपी 36 के 2531 पर सवार दोनो अभियुक्तो को गिरफतार कर लिया और दोनो कातिलो से कडाई से पूछताछ करने पर रंजीत ने अपना जुर्म इकवाल किया और रंजीत ने बताया कि मेरे भाई राम विलोन व भाभी मालती से घर व जमीन के हिस्सेदारी बटवारे का विवाद था मेरा हिस्सा ये लोग मुझे नही दे रहे थे जिस कारण मैने सोचा कि जिस लडके के लिए मेरा हिस्सा  नही दे रहे हो मै उसे ही खत्म कर दूॅगा इसी बात पर रात सोते समय करीब अर्ध रात्रि समय लगभग 11 बजे रोत को सोते समय भाभी मालती व इनके बेटे धीरज पर बाॅके व चाकू से प्रहार कर बेटे धीरज 9 वर्ष को गला काटकर हत्या कर दी गई।तथा भाभी को गंभीर रुप से घायल कर दिया गया।भाभी मालती के सिर पर बाॅके से मारकर मरणासन्न कर तब भी उसको शान्ति नही मिली जाते जाते पास मे पडी ईट उठाकर भाभी के सिर पर मारकर भाग गया।अभियुक्त रंजीत की निशानदेही पर 01 अदद बाॅका ,01 अदद चाकू आलाकत्ल व खूना लूद जींस का पैन्ट धरवटियापुर भठ्ठे के पास घनी बाॅस की कोठ से बरामद किया।रंजीत ने बताया कि अमरनाथ ने पूरी घटना मे मेरा पूरा साथ दिया है मुझे मोटरसाइकिल से लाना ले जाना चाकू बाॅका खरीदने मे पूरी मदद किया है मेरे द्वारा हत्या किए जाने के बाद मुझे घर से बस स्टेशन जगदीशपुर पहुॅचाया गया तब मै भाग कर अम्बाला हरियाणा चला गया जहाॅ मै पूर्व मे भी रहता था वही मेरे साथ धीरज के पिता राम विलोन के साथ रहकर वही दिहाडी मजदूरी करते थे गिरफतार करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने 5000 का ईनाम घोषित किया है। गिरफतार करने वाली टीम- थानाध्यक्ष मुन्शाीगंज रविन्द्र सिंह ,उ0नि0 तरुण पटेल,का0 अनुज सिंह,कृष्णवीर सिंह,अंकेश कुमार,शिवराम,अतुल कुमार,बृजेश विश्वकर्मा सर्विलांस,सतीश सर्विलांस बाकी उपरोक्त सभी थाना मुन्शीगंज के हमराह द्वारा अपराधियो को पकडने मे सहयोग किया जो कि मुन्शीगंज पुलिस का एक अतिउत्तम सराहनीय कार्य है।