कोयला तस्करी मामले में सीबीआई ने भेजा अभिषेक बनर्जी के परिवार वालों को समन

कोलकाता : कोयला तस्करी मामले में अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की साली मेनका गंभीर के ससुर और पति को पूछताछ के लिए बुलाया है। जांच से जुड़े एक सूत्र ने बताया, सीबीआई ने मेनका गंभीर के ससुर पवन अरोड़ा और पति अंकुश अरोड़ा को 15 मार्च को अपने कार्यालय में पूछताछ के लिए तलब किया है। सीबीआई ने इससे पहले अभिषेक की पत्नी रूजीरा बनर्जी और उनकी भाभी मेनका से भी इस मामले के संदर्भ में पूछताछ कर चुकी है। अभिषेक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के भतीजे हैं।
सीबीआई ने पिछले साल नवंबर को अवैध कोयला रैकेट के कथित मुख्य साजिशकर्ता अनूप मांझी उर्फ लाला, ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड के जनरल मैनेजर अमित कुमार धर और जयेश चंद्र राय, ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, क्षेत्र के सुरक्षा निरीक्षक कुनुस्तोरिया धनंजय राय और एसएसआई व प्रभारी कजोरा क्षेत्र देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ मामला दर्ज किया था। 26 फरवरी को सीबीआई ने कोलकाता में एक बिजनेसमैन के घर की तलाशी ली थी और 19 फरवरी को एजेंसी ने पश्चिम बंगाल के चार जिलों के 13 स्थानों पर छापेमारी की थी, जिसमें कोयला माफिया जयदेव मंडल का भी घर शामिल था।
कोयला तस्करी के रैकेट के सिलसिले में पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के 45 स्थानों पर पिछले साल 28 नवंबर को सीबीआई ने छापेमारी की थी। सीबीआई की इन कार्रवाइयों ने पश्चिम बंगाल में चुनावी माहौल को और गर्म कर दिया है, जहां सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा दोनों राजनीतिक दल आमने-सामने हैं। 294 सदस्यों वाली पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए मतदान 27 मार्च, 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को आठ चरणों में होने हैं और मतगणना 2 मई को होगी।