जिला कार्यक्रम अधिकारी ने जन आरोग्य मेले का निरीक्षण किया

सहारनपुर। पोषण अभियान के अंतर्गत आज जिला कार्यक्रम अधिकारी आशा त्रिपाठी ने आज मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले में पहुंचकर मेले में लगायी गयी स्टाॅलों आदि का निरीक्षण किया। रामपुर मनिहारान के पहांसू पीएचसी केन्द्र पर आयेाजित जन आरोग्य मेले में आंगनबाडी कार्यकत्रियों द्वारा आईसीडीएस विभाग के द्वारा स्टाल लगाया गया था जिसमें ड्राई राशन से निर्मित स्वादिष्ट व्यंजन इत्यादि तैयार कर स्टॉल में रखा गया है । हेल्प डेस्क का अलग काउन्टर लगाया गया था। काउंसलिंग काउन्टर भी बनाया गया था जिसमें आने वाले लाभार्थियों को सलाह दी जा रही थी कि उनको कहां और कैसे  टीकाकरण  कराना है । इसके साथ ही विभाग द्वारा जो ड्राई राशन वितरण प्रणाली के माध्यम से घी और स्किम्ड मिल्क का वितरण किया जा रहा है ।लाभार्थियों को जिन्होंने प्राप्त नहीं किया है उन्हें भी वितरित किया जा रहा था।  जनपद के सभी उप केंद्रों और पीएचसी केंद्रों पर जन आरोग्य मेले का आयोजन शासन के निर्देशों के क्रम में पोषण अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है जिसमें टीकाकरण, स्वास्थ्य जांच, किशोरी बालिकाओं  की काउंसलिंग, एनीमिया से बचाव के उपाय ,आयरन फोलिक एसिड गोलियों का वितरण तथा ड्राई राशन का वितरण किया जाता है। आरोग्य मेले में बच्चों का वजन भी लिया जाता है वजन के माध्यम से अल्प वजन और कुपोषण की श्रेणी में आने वाले बच्चों का चिन्हिकरण किया जाता है तथा उनको आवश्यक उपचार देते हुए उनका स्वास्थ्य प्रबंधन किया जाता है और अति गंभीर बच्चे को प्रभारी चिकित्सा अधिकारी के जांच के बाद पोषण पुनर्वास केंद्र जिला अस्पताल सहारनपुर में भर्ती कराने का सुझाव मेले में दिया जाता है । आज आरोग्य मेले में पूरे जनपद में 13 तीव्र कुपोषित बच्चों को चिन्हित किया गया तथा 285 मैम श्रेणी के बच्चों का चिन्हिकरण  हुआ, जिसकी सूचना शासन के निर्देशों के क्रम में 4रू00 बजे तक मेल के माध्यम से प्रत्येक रविवार को भेजी जाती है मेरे द्वारा सभी बाल विकास परियोजना अधिकारियों को, मुख्य सेविकाओं को यह निर्देशित किया गया है कि आप रोस्टर के अनुसार आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की प्रत्येक मेले में ड्यूटी लगा दें और ड्यूटी के अनुसार सभी का कार्य निर्धारित किया गया है ।संपूर्ण जनपद के 354 केंद्रों पर आज माननीय मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले का आयोजन किया गया। जनपद में प्रत्येक केंद्र पर शासन द्वारा बच्चों की ऊंचाई नापने का यंत्र स्टेडियोमीटर तथा वजन नापने का यंत्र प्राप्त कराया जा चुका है जिसके माध्यम से चिंनिहकरण का कार्य किया जाता है।