विभिन्न उत्पादन आदि व्यवसाय को अपनाकर महिलाएं बन सकती है आत्मनिर्भर: एमपी सिंह

बहराइच। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या द्वारा संचालित कृषि विज्ञान केंद्र बहराइच प्रथम द्वारा 8 मार्च 2021 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस प्राथमिक विद्यालय कुड़िया तुरहानी रज्जब ब्लॉक चितौरा में आयोजित किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए प्रभारी अधिकारी डॉ एमपी सिंह ने महिलाओं से आग्रह किया कि वह भी पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कृषि ,पशुपालन, मशरूम उत्पादन, मधुमक्खी पालन, सूकर पालन, मुर्गी पालन एवम् रेशम उत्पादन आदि व्यवसाय को अपनाकर आत्मनिर्भर बन सकती हैं। यह सभी व्यवसाय ऐसे हैं कि इसमें कृषक महिलाए और भी लोगों को रोजगार उपलब्ध करा सकती हैं। 

इस कार्यक्रम में डॉ शैलेंद्र सिंह ने कृषि महिलाओं को बताया कि कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी लगभग 33 प्रतिशत है और इसको 50 प्रतिशत तक अपनाया जा सकता है। गृह वैज्ञानिक श्रीमती रेनू आर्य ने महिलाओं एवं बच्चों को कुपोषण की कमी का जिक्र किया उन्होंने यह बताया कि घर में अचार, मुरब्बा, जैम, जेली, सिरका, गुड की बर्फी आदि बनाकर बाजार में समूह बनाकर बेचा जा सकता है जिससे उनको आर्थिक लाभ होगा उन्होंने यह भी बताया कि गांव की महिलाएं यदि स्वाबलंबी एवं आत्मनिर्भर होंगी तो समाज जनपद प्रदेश एवं देश खुशहाल बनेगा।