नवजोत सिद्धू : खेती और किसानों के विकास के लिए सुझाए कई नुस्खे

चंडीगढ़ : कांग्रेस विधायक नवजोत सिंह सिद्धू ने गुरुवार को एक बार फिर अपनी ही पार्टी की सरकार को घेर लिया। उन्होंने पंजाब सरकार को प्रदेश में खेती और किसानी के विकास के लिए कई टिप्स दिए। साथ ही सुझाव दिया कि पंजाब सरकार को हरियाणा की तर्ज पर दाल व तिलहन पर काम करना चाहिए। इससे किसानों के साथ ही पंजाब का भी विकास होगा। उन्होंने किसानों के समर्थन में तीनों कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की भी वकालत की।
चंडीगढ़ के पंजाब भवन में पत्रकारों से बातचीत में सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार को हरियाणा की तर्ज पर किसानों के हित में दाल और तिलहन पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) देना चाहिए। इसके साथ ही फसलों के भंडारण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में कोल्ड स्टोर की व्यवस्था करनी चाहिए। इससे किसान अधिक समय तक अपनी फसलों को रोक सकेगा, जिससे सीधे तौर पर उसे फायदा होगा।
किसानों के हाथ मजबूत करने के लिए पंजाब सरकार को सहकारिता के सिस्टम को खत्म कर देना चाहिए, इससे किसान अपनी फसल का दाम स्वयं तय कर पाएगा। उन्होंने कहा कि मनरेगा की तरह खेतिहर मजदूर को भी वेतन जैसी सुविधाएं मिलनी चाहिए।
नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि केंद्रीय कृषि कानूनों के उलट वह अपने स्तर पर ही किसानों के हित में कई कानून बना सकती है। वह अपने इन प्रस्तावों को जल्द ही सरकार तक पहुंचाएंगे, जिससे पंजाब की खेती और किसानी का विकास हो सके।