डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई राजस्व कार्यो की समीक्षा बैठक

बहराइच। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व कार्यों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि खण्ड विकास अधिकारियों से समन्वय करते हुए आवास के लिए अधिक से अधिक पात्र व्यक्तियों को भूमि का आवंटन किया जाय ताकि सभी ज़रूरतमन्दों को आवास की सुविधा उपलब्ध हो सके। 

जिलाधिकारी ने भूमि आवंटन कार्य की समीक्षा के दौरान सभी उप जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि पौधरोपण के लिए विगत तीन वर्षो में आवंटित की गयी भूमि का शत-प्रतिशत सत्यापन करा लिया जाय और ऐसी आवंटित भूमि जहाॅ पर पौधरोपण नहीं किया गया है उसे चिन्हित करते हुए आगामी वृक्षारोपण सत्र में विभाग के पौधरोपण लक्ष्य को पूरा करें। सभी पीठासीन अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि लम्बित वादों का निस्तारण मानक के अनुसार कराया जाय तथा 05 वर्ष से अधिक अवधि के लम्बित वादों के निस्तारण हेतु अभियान संचालित किया जाय।

बैठक के दौरान स्टाम्प एवं चकबन्दी वादों का निस्तारण, दाखिला, पेंशन, विभागीय कार्यवाही, आडिट आपत्ति, मजिस्ट्रियल जाॅच, सर्वहित किसान बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना, ई-डिस्ट्रिक्ट, चकबन्दी कार्य इत्यादि से सम्बन्धित प्रकरणों के निस्तारण आदि की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। वरासत अभियान की समीक्षा के दौरान तहसीलों को निर्देश दिये गये कि सभी गांव में कार्य शुरू करा दिया जाय।  

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, नानपारा के सूरज पटेल आईएएस, महसी के एस.एन. त्रिपाठी, कैसरगंज के महेश कुमार कैथल, पयागपुर के कीर्ति प्रकाश भारती, मिहींपुरवा (मोतीपुर) ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी शोभाराम वर्मा, अधि. अभियन्ता लोक निर्माण प्रान्तीय खण्ड आर.के.राम, तहसीलदारगण व कलेक्ट्रेट के पटल सहायक व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।