डी.एम. की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई राजस्व वसूली की समीक्षा बैठक

बहराइच । कलेक्ट्रेट सभागार में कर-करेत्तर राजस्व वसूली की समीक्षा के लिए आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने अपर जिलाधिकारी को निर्देश दिया कर-करेत्तर राजस्व वसूली से सम्बन्धित विभागों के साथ प्रत्येक सप्ताह बैठक कर मानक के अनुसार वसूली सुनिश्चित करायें। वसूली प्रमाण-पत्र के वापसी की समीक्षा करते हुए श्री कुमार ने निर्देश दिया कि किन्हीं कारणों से तहसीलों द्वारा वापस की गयी आर.सी. को सम्बन्धित पोर्टल से भी डिलीट कर डाटा को अनिवार्य रूप अद्यतन कर दिया जाय। वाणिज्य कर वसूली की प्रगति संतोषजनक न पाये जाने पर श्री कुमार ने नाराज़गी व्यक्त करते हुए ए.डी.एम. को सम्बन्धित विभाग के जिम्मेदार अधिकारी को नोटिस करने का निर्देश देते हुए कहा कि जारी नोटिस को सम्बन्धित विभाग के मण्डलीय अधिकारी व आयुक्त को पृष्ठांकित किया जाय। वाणिज्य कर खण्ड-1 के उपायुक्त को निर्देश दिया गया कि तीनों खण्डों की अपने स्तर से समीक्षा कर राजस्व वसूली की स्थिति में अपेक्षित सुधार लायें। ए.डी.एम. को निर्देशित किया गया कि वाणिज्य कर विभाग के राजस्व वसूली कार्य की अलग से समीक्षा करें तथा तहसीलों के स्तर पर उपलब्ध आर.सी. की वसूली सुनिश्चित करायें।  

स्टाम्प देय वसूली की समीक्षा के दौरान तहसील मिहींपुरवा (मोतीपुर) में राजस्व वसूली संतोषजनक न पाये जाने पर तहसीलदार को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये गये। एस.डी.एम. को निर्देशित किया गया कि प्रभावी पर्यवेक्षण कर वसूली की स्थिति में अपेक्षित सुधार लायें। डी.एम. ने समस्त तहसीलों को यह भी निर्देश दिया सम्पर्क मार्गों के किनारे व आबादी के बीच की भूमि के हुए बैनामों की जाॅच कर यह सुनिश्चित करायें कि सर्किल रेट के अनुसार ही स्टाम्प का प्रयोग किया गया है। ताकि स्टाम्प कमी पाये जाने वाले प्रकरणों में नियमानुसार कार्यवाही की जा सके। 
आबकारी देय की वसूली की दौरान श्री कुमार ने निर्देश दिया कि आसन्न त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन व त्यौहारों के दृष्टिगत प्रभावी प्रवर्तन की कार्यवाही सुनिश्चित करें। विद्युत देय वसूली की समीक्षा के दौरान कतिपय एस.डी.एम. द्वारा बताया गया कि विभाग द्वारा वसूली प्रमाण-पत्र जारी करने के बावजूद प्रभावी ढंग से विद्युत विच्छेदन की कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस स्थिति को अत्यन्त गम्भीरता से लेते हुए डी.एम. ने ए.डी.एम. को निर्देश दिया कि ऐसे मामलों के सम्बन्ध में तहसीलों से आख्या प्राप्त कर सम्बन्धित के विरूद्ध कार्रवाई कराना सुनिश्चित करें। अधि.अभि. विद्युत नानपारा को सचेत किया गया कि एक सप्ताह के अन्दर विभागीय कार्यों में अपेक्षित सुधार लायें। 
परिवहन देय की वसूली की समीक्षा के दौरान उप जिलाधिकारियों विशेषकर मिहींपुरवा को निर्देश दिया गया कि पोर्टल से आर.सी. का मिलान प्रभावी वसूली सुनिश्चित करायें तथा वसूली के लिए तहसील के अमीनों को एक्टिव किया जाय। वन देय की वसूली मानक के अनुसार न पाये जाने पर डी.एफ.ओ. को नाटिस जारी किये जाने का निर्देश दिया गया। स्थानीय निकाय से सम्बन्धित आर.सी. वसूली की बाबत संतोषजनक जवाब ने दे पाने का संज्ञान लेते हुए श्री कुमार ने तहसीलदार सदर को नोटिस जारी किये जाने का निर्देश दिया।
आसन्न त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 के दृष्टिगत श्री कुमार ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि ऐसे सभी विद्यालयों जिनका उपयोग मतदान केन्द्र अथवा प्रायोजनों के लिए होना है, उनके कनेक्शनों का स्थलीय सत्यापन कर चालू दशा में रखा जाय। महाशिवरात्रि पर्व के दृष्टिगत नगर निकायों को निर्देश दिया गया कि मन्दिरों तथा जलाभिषेक के लिए उपयोग में लाये जाने वाले रास्तों इत्यादि की साफ-सफाई के माकूल बन्दोबस्त सुनिश्चित करायें। 
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, डीएफओ बहराइच मनीष सिंह, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, नानपारा के सूरज पटेल आईएएस, महसी के एस.एन. त्रिपाठी, कैसरगंज के महेश कुमार कैथल, पयागपुर के कीर्ति प्रकाश भारती, मिहींपुरवा (मोतीपुर) ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, एस.ओ.सी. शोभाराम वर्मा, अधि.अभि. लो.नि.वि. प्रा.ख. आर.के.राम, तहसीलदारगण व कर-करेत्तर विभागों से सम्बन्धित अधिकारी, कलेक्ट्रेट के पटल सहायक व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।