छोटी सी अनदेखी महिला पर पड़ी भारी, वैक्सीन लेने के बाद भी हो गई संक्रमित

भारत में कोरोना की रोकथाम के लिए लगातार वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। देश में 16 जनवरी को वैक्सीनेशन अभियान की शुरूआत की गई थी। जिसके बाद हाल ही में 1 मार्च को कोरोना वैक्सीन का दूसरा चरण भी शुरू हो गया है। डॉक्टरों की मानें तो कोरोना वैक्सीन लोगों को वायरस से बचाने के लिए बनाई गई है। फिलहाल अभी तक तो इसके साइड इफैक्ट सामने आ रहे हैं लेकिन हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सभी की चिंता बढ़ा दी है। 

वैक्सीन लेने के बाद कोरोना संक्रमित हुई महिला 

वैक्सीन की दूसर डोज लेने के बाद कोरोना संक्रमण का मामला सामने आया है। दरअसल यह मामला भोपाल से है जहां एक वरिष्ठ महिला डॉक्टर ने कोरोना की दूसरी डोज लेने के बावजूद भी वह कोरोना संक्रमित हो गई। इसके बाद न सिर्फ लोगों के मन में एक डर का माहौल है बल्कि इसके साथ ही डॉक्टर्स भी हैरान हैं। 

क्या है वैक्सीन लेने के बाद भी संक्रमित होने का कारण

इस पर महिला डॉक्टर के घरवालों की मानें तो डॉक्टर का ऐसा मानना था कि दूसरी बार कोवैक्सीन लेने के बाद उन्हें मास्क पहनने की जरूरत नहीं है और यही लापरवाही उन पर भारी पड़ी और वह कोरोना का शिकार हो गईं। खबरों की मानें तो महिला डॉक्टर ने 16 जनवरी को पहली खुराक ली थी जिसके बाद उन्हें दूसरी खुराक दी गई लेकिन जब महिला ने कोरोना टेस्ट करवाया तो उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई जिसके बाद  उन्हें आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई है। 

न करें यह छोटी छोटी गलतियां

जबसे देश में वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा गया है तब से ही लोगों को यह सलाह दी जा रही है कि वह वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के नियमों का पूरा पालन करें। मास्क पहनें, भीड़ भाड़ वाले इलाके में न जाएं, समय-समय पर हाथ भी जरूर धोएं। देखा जाए तो आज हर कोई इस वायरस को लेकर अनदेखी दिखा रहा है कोई भी अब इस वायरस को गंभीरता से नहीं ले रहा है लेकिन आपकी यही अनदेखी भारी पड़ सकती है इसलिए जरूरी है कि आप वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के नियमों को फॉलो करें। सिर्फ तभी आप इस वायरस से खुद का बचाव कर सकते हैं।

posted by -दीपिका पाठक