पूर्व सिलेक्टर देवांग गांधी: टी-20 सीरीज में शिवर धवन को नहीं मिलेगा मौका

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टी-20 सीरीज 12 मार्च से अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में शुरू होने जा रही है। सीरीज के शुरू होने से पहले ही यह चर्चा तेज हो गई है कि टीम में सलामी जोड़ी के रूप में किन दो खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन में जगह मिलेगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस सीरीज के लिए टीम के पास केएल राहुल, शिखर धवन और लिमिटेड ओवर में टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा मौजूद हैं। मौजूदा स्थिति पर पूर्व क्रिकेटर और सिलेक्टर देवांग गांधी को लगता है कि भारत टी-20 सीरीज में राहुल और रोहित को उतारेगा, जबकि धवन एक बैकअप खिलाड़ी के रूप में रहेंगे।
पीटीआई से बात करते हुए गांधी ने कहा कि, 'अनुभवी सलामी बल्लेबाज धवन को पांच टी-20 मैचों की सीरीज में संभवत: तभी मौका मिल सकता है जब राहुल या रोहित में से कोई चोटिल हो या किसी को आराम दिया जाए। पिछले साल आईपीएल में राहुल के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले धवन का रोहित की वापसी के बाद टी-20 टीम में जगह बना पाना मुश्किल है।' गांधी का मानना है कि ऋषभ पंत को चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करनी चाहिए, ताकि आक्रामक खेल दिखाने का पूरा मौका मिल सके और सूर्यकुमार यादव को पांचवें नंबर पर उतारा जा सकता है।
सबसे पहले बात धवन की करें तो टेस्ट क्रिकेट में धमाकेदार शुरुआत करने के बाद फिलहाल वो इस फॉर्मेट से दूर ही हैं। आलम यह है कि उन्हें टेस्ट टीम के स्क्वैड में भी जगह नहीं मिलती है। लेकिन जब बात व्हाइट बॉल क्रिकेट की आती है तो धवन पर सबकी निगाहें रहती हैं। उन्होंने देश की तरफ से आईसीसी टूर्नामेंट में हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है। राहुल के प्रदर्शन पर नजर दौड़ाई जाए तो उन्होंने पिछले कुछ समय से लिमिटेड ओवर में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। आईपीएल 2020 में भी उनके बल्ले से सर्वाधिक रन निकले थे, जिसकी वजह से उन्होंने ओरेंज कैप पर कब्जा किया था।
लिमिटेड ओवर क्रिकेट में टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा इस समय तीनों फॉर्मेट के बेस्ट ओपनर बनकर उभरे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ हाल ही में खत्म हुई टेस्ट सीरीज में उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाए थे। उन्होंने चार टेस्ट मैचों में 57.50 की शानदार औसत से 345 रन बनाए थे।