महाकुंभ 2021: निकली निरंजनी अखाड़े की पेशवाई, हेलीकॉप्टर से हुई फूलों की बारिश

हरिद्वार : हरिद्वार में आज पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी की भव्य पेशवाई निकाली जा रही है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी इस दौरान हरिद्वार में मौजूद रहे। उन्होंने संतों से मुलाकात भी की। एक हेलीकॉप्टर और दो ग्लाइडर से संत और महंतों पर फूलों की बारिश हुई। ऊंट, हाथी, चांदी के सिंहासन और रथ पेशवाई के मुख्य आकर्षण हैं। पेशवाई में देवभूमि की संस्कृति की झलक दिख रही है और कोविड से बचाव का संदेश भी दिया जा रहा है।

एसएमजेएन पीजी कॉलेज में श्री निरंजनी अखाड़े की अस्थायी छावनी में संतों और रमता पंचों ने डेरा डाला है। बुधवार को धूमधाम से अखाड़े की पेशवाई निकली जा रही है। इसके लिए चांदी के सिंहासन, रथ, सजावट की सामग्री मंगलवार को हरिद्वार पहुंच गईं थीं।

पेशवाई का नेतृत्व आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद कर रहे हैं। अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने बताया कि पेशवाई में शामिल संतों पर एक हेलीकॉप्टर और दो ग्लाइडर से पांच कुंतल फूलों की बारिश की गई।

इसके लिए बिजनौर और मंगलौर से गुलाब के फूल मंगवाए गए हैं। कनखल में हेलीकॉप्टर फूल बरसाए गए। इसके बाद शिव मूर्ति चौक के पास फूलों की बारिश हुई। 25 बैंडबाजों में 100 लोगों की टीम है। इनमें 50 महिलाएं और 50 पुरुष शामिल हैं। संत मास्क पहनकर कोविड से बचाव का संदेश दे रहे हैं। शाम छह बजे पेशवाई निरंजनी अखाड़े के पास पार्किंग स्थल में बनी स्थायी छावनी में प्रवेश करेगी।

एसएमजेएन पीजी कॉलेज गोविंदपुरी से चंद्राचार्य चौक, शंकर आश्रम, सिंह द्वार, देशरक्षक चौराहा, दादू बाग, कनखल बाजार, कनखल चौक, शंकराचार्य चौक, तुलसी चौक, शिवजी की मूर्ति, ललतारौ पुल, गुर्जरवाला भवन, भाटिया भवन, चरण पादुका स्थल से होते हुए पंचायती अखाड़ा छावनी में प्रवेश करेगी।