IND vs ENG: इरफान पठान ने कुलदीप यादव को बताया अनोखा


भारत के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान ने बाएं हाथ के कलाई के स्पिनरों को 'अनोखा' करार देते हुए इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज के लिए कुलदीप यादव को भारतीय टीम में शामिल करने की सिफारिश की है। कुलदीप को पिछले तीन महीनों में अधिकतर समय बेंच पर ही बिताना पड़ा लेकिन पठान ने कहा कि यह 'अनोखा' गेंदबाज पांच फरवरी से चेन्नई में शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करेगा। पठान ने पीटीआई से कहा कि यह टीम मैनेजमेंट की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है कि जो खिलाड़ी नहीं खेल रहा है उसकी मानसिकता वे कैसे बनाए रखते हैं। मुझे विश्वास है कि वे सही काम कर रहे हैं और यही वजह है कि कुछ युवा खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है।

उन्होंने कहा, ''मुझे पूरा विश्वास कि वे कुलदीप यादव का समर्थन कर रहे होंगे क्योंकि वह बेहद प्रतिभाशाली है। आपको हर दिन बाएं हाथ के स्पिनर नहीं मिलते।'' पठान ने इंग्लैंड के खिलाफ कुलदीप को टीम में शामिल करने की वकालत करते हुए कहा कि वह अनूठा गेंदबाज है। वह 25-26 साल का है और यह वह उम्र है जहां वह परिपक्वता हासिल करेगा। उसे जब भी मौका मिलेगा, पहला टेस्ट हो या दूसरा टेस्ट वह अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बेताब होगा और मुझे पूरा विश्वास है कि वह इसमें सफल रहेगा। भारत की तरफ से 29 टेस्ट और 120 वनडे खेलने वाले पठान ने कहा कि जब इंग्लैंड की बात आती है तो इतिहास देख लो, अगर आप लेग स्पिनर हो तो आपके पास सफलता के अधिक मौके रहेंगे। इसलिए मुझे विश्वास है कि जब भी उसे खेलने का मौका मिलेगा वह सफल होगा।

कुलदीप ने अब तक छह टेस्ट मैचों में 24 विकेट लिए हैं। उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच जनवरी 2019 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। सीरीज के पहले टेस्ट मैच के संयोजन के बारे में पठान ने कहा कि चेन्नई की पिच की प्रकृति को देखते हुए तीन स्पिनरों के साथ उतरना बुरा विकल्प नहीं होगा। उन्होंने कहा कि यह विकेट पर निर्भर करता है लेकिन इसकी काफी संभावना है कि चेन्नई में तीन स्पिनरों को खेलने का मौका मिले क्योंकि हमने देखा है कि चेन्नई की पिच अतिरिक्त उछाल और स्पिन गेंदबाजों के लिए अनुकूल मिट्टी के कारण वास्तव में स्पिनरों को कैसे मदद कर सकती है।

पठान को लगता है कि युवा वॉशिंगटन सुंदर और अनुभवी रविचंद्रन अश्विन चारों टेस्ट मैच में खेल सकते हैं। सीरीज के पहले दो मैच चेन्नई और अंतिम दो मैच अहमदाबाद में होंगे। उन्होंने कहा कि ऐसी संभावना है क्योंकि वॉशिंगटन सुंदर केवल अपनी गेंदबाजी के दम पर नहीं बल्कि ऑलराउंडर के तौर पर खेलेगा। वह बहुत अच्छी बल्लेबाजी करता है और भारत में अनुकूल परिस्थितियों में एक स्पिनर के रूप में अच्छा प्रदर्शन कर सकता है। पठान को लगता है कि भारत इस सीरीज में 2-1 से जीतेगा। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर भारत यह सीरीज जीतेगा। इसमें कोई संदेह नहीं है। इंग्लैंड की टीम ने हाल में श्रीलंका में वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया था। यहां की पिचें भी वैसी ही हैं और उनके लिए जो रूट की भूमिका अहम होगी।