शहीदों के बातएं मार्गों पर चलना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि: जिलाधिकारी


सहारनपुर। चैैरी चैरा शताब्दी महोत्सव के शताब्दी वर्ष के अवसर पर प्रथम स्वतंत्रता आंदोलन के शहीदों को  लोहा बाजार में स्थित शहीद स्मारक स्थल पर जनप्रतिनिधियों, जिलाधिकारी  और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित गणमान्य नागरिकों ने श्रद्धांजलि दी। जिलाधिकारी श्री अखिलेश सिंह ने कहा कि ने कहा कि जिन शहीदों ने देश को आजाद कराया, आज युवा पीढ़ी उन्हें भूलती जा रही है। शहीदों द्वारा द्वारा बताए गए मार्गों पर चलना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है।

चैैरी चैरा शताब्दी समारोह के शुभारम्भ के अवसर पर माननीय प्रधानमंत्री श्री  नरेन्द्र मोदी तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के उद्बोधन का सजीव प्रसारण किया गया। प्रधानमंत्री जी ने कहा कि शहीदों का खून इस देश की मिट्टी में मिला हुआ है जो हमें शक्ति और प्रेरणा देता है। उन्होने कहा कि शहीदों को देश के लिए मरने का सौभाग्य प्राप्त हुआ था और हम सबको देश के लिए जीने का सौभाग्य मिला है। इस अवसर पर देश के लिए जीने का संकल्प लें। 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि चैरी चैरा घटना ने देश के स्वाधीनता संग्राम को एक नयी दिशा दी। उन्होने कहा कि देश की स्वाधीनता के लिए और उसके बाद देश की रक्षा में शहीद हुए देश के वीरों के स्मारक स्थलों पर इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होने कहा कि प्रत्येक शहीद स्मारक पर पुलिस बैण्ड से राष्ट्रधुन और दीप प्रज्जवलित किए जाएंगे। 
चैरी चैरा शताब्दी वर्ष पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा डाक टिकट का विमोचन किया गया। शहीद स्थल लोहा बाजार में आयोजित कार्यक्रम में श्री दिगम्बर जैन कन्या इण्टर काॅलेज, इण्डस्ट्रीयल मुस्लिम गल्र्स इण्टर काॅलेज, आर्य कन्या इण्टर काॅलेज, एस0डी0 इण्टर काॅलेज एवं के0आर0 हाई स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा प्रभात फेरी निकाली गयी। इसके बाद शहीद स्मारक स्थल पर वंदे मातरम का गायन किया गया। इसी क्रम में रामपुर मनिहारान, देवबन्द, नकुड और मुजफ्फराबाद विकासखण्ड परिसर में कार्यक्रम आयोजित किये गये। मुख्य कार्यक्रम जनमंच में आयोजित किया गया।