इसारा काफ़ी है

बहुत जरूरी है
थोड़ी बहुत,
सियासत की चाल,
समझना बहुत जरूरी है।
लोग क्यों फुला रहे हैं
गाल?
समझना बहुत जरूरी है।।
प्रयास पर प्रयास 'सरस,
बेमतलब साबित हो रहा,
क्यों नहीं गल‌ रही दाल?
समझना बहुत जरूरी है।
कहां है इन्साफ, कहां नाइन्साफी है।
बस एक इसारा काफ़ी है।।
समझना बहुत जरूरी है।

-गौरीशंकर पाण्डेय सरस।