सराफ की गोली मारकर हत्या, घर जाते समय लुटेरों ने किया हमला, जेवर लूटे


बांदा। मबदौसा के दस्यु प्रभावित क्षेत्र में मंगलवार की देर शाम दुकान बंद कर बाइक से घर जा रहे सराफ की गोली मारकर हत्या करके जेवरों से भरा बैग लूट लिया। आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने देर रात तक पुलिस को शव नहीं उठाने दिया। एसपी मौके पर पहुंच गए हैं। घटना फतेहगंज थाना क्षेत्र के जबरापुर गांव की है। मंगलवार की रात गांव निवासी शिवचरण का का सराफा व्यवसायी बेटा जितेंद्र उर्फ छोटा (22) बघेलाबारी गांव तिराहे में स्थित अपनी सराफा दुकान बंद कर बाइक से घर जा रहा था। बाइक सवार दो बदमाशों ने पीछा किया और जबरापुर मातृ एवं शिशु कल्याण केंद्र के नजदीक युवक की बाइक को ओवरटेक करते हुए तमंचे से उसकी कनपटी में गोली मार दी। इसके बाद दोनों बदमाश जेवरों का बैग लेकर भाग गए। खेतों में मौजूद ग्रामीण और राहगीरों ने सूचना मृतक के पिता और पुलिस को दी। ग्रामीणों के मुताबिक, पुलिस दो घंटे तक नहीं पहुंची। इससे परिजन भड़क उठे। शव के पास जाम लगा दिया। फतेहगंज एसओ नंद कुमार प्रजापति फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन ग्रामीणों ने उन्हें शव नहीं उठाने दिया। परिजनों ने थाना पुलिस पर लापरवाही के आरोप लगाए। देर रात मुख्यालय से पुलिस अधीक्षक डॉ. एसएस मीणा भी घटनास्थल पहुंचे। आक्रोशित लोग पूरे थाने के खिलाफ कार्रवाई, आरोपियों की गिरफ्तारी और परिजनों की सुरक्षा की मांग कर रहे थे। देर रात तक पुलिस अधीक्षक उन्हें समझाने में जुटे रहे। जितेंद्र की शादी 23 जून 2020 को हुई थी। इस समय पत्नी नंदिनी कर्वी स्थित मायके में है। मृतक दो भाइयों में छोटा था। बड़ा भाई सूरत में व्यापार करता है। परिजन घटना की वजह नहीं बता पा रहे हैं।