सिगरेट देने से मना करने पर दुकानदार को दबंगों ने घर में घुसकर पीटा

लखनऊ। राजधानी में रविवार देर रात वजीरगंज क्षेत्र में जमकर पांच से छह दबंगों ने बवाल मचाया। भतीजी की सगाई समारोह के चलते सिगरेट देने से मना करने पर दुकानदार को दबंगों ने घर में घुसकर पीटा। बीच-बचाव में आईं महिलाओं-बच्चों को बेल्ट, डंडों और लात-घूसों से मारा। चीखें सुनकर जागे पड़ोसियों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने कई हमलावरों को हिरासत में लिया। खास बात यह है कि घटनास्थल से पुलिस थाना करीब 500 मीटर की दूरी पर ही स्थित है। इसके बावजूद पुलिस को भनक तक नहीं लगी। रात को गश्त करने वाली पुलिस भी सोई दिखाई दी। मामला वजीरगंज क्षेत्र के ताजीखाना मुहल्ले का है। यहां के निवासी वसीम घर में ही एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। रविवार को उनकी भतीजी की सगाई थी। सगाई समारोह के दौरान घर पर रिश्तेदार और मिलने वाले मौजूद थे। खाना-पीना चल रहा था। इस बीच बारूदखाना निवासी आमिर और आबिद बाइक से पहुंचे। उन्होंने समारोह के दौरान वसीम से सिगरेट मांगी। घर में समारोह चल रहा था। इसलिए दुकानदार वसीम और उनके भतीजे ने सिगरेट देने से मना कर दिया। यह बात आमिर और आबिद को रास नहीं आई। इसपर दोनों ने मिलकर दुकानदार से गाली-गलौज शुरू कर दी। आरोप है कि आमिर और आबिद ने फोन कर अब्दुल्लाह, सफराज समेतअपने दोस्तों पांच-छह को बुला लिया। उन्होंने वसीम के घर में घुसकर मारपीट शुरू कर दी। डंडों और बेल्ट से महिलाओं और बच्चों तक को पीटा, जो जहां मिला वहीं पीटने लगे। बचाव में कोई छत पर भागा तो कोई कमरे के अंदर। चारों-तरफ चीख पुकार मच गई। पड़ोसियों की सूचना पर वजीरगंज पुलिस मौके पर पहुंची। आनन-फानन कई हमलावरों को हिरासत में लेकर थाने पहुंची। इंस्पेक्टर घनश्याम मणि त्रिपाठी ने बताया कि वसीम ने आमिर, आबिद और उसके साथियों पर हमले का आरोप लगाया है। हमले में जो लोग चोटिल हुए हैं, उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। पीड़ित पक्ष ने अभी तहरीर नहीं दी है। तहरीर के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।