रालोद ने प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

सीतापुर। राष्ट्रीय लोकदल ने योजनाओं में भ्रष्टाचार को लेकर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। रालोद के जिलाध्यक्ष प्रबीन सिंह ने जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन अतिरिक्त मैजिस्ट्रेट को सौंपा। जिलाध्यक्ष ने आरोप लगाया कि जिले में बनाये गये पशु आश्रय व ग्रामपंचायत में दिये गये पशु बाड़ों में वशोफिट में ब्यापक घोटाला किया गया है।

पशु आश्रय जो बनाया गया है उसमें न उनके खाने की समुचित व्यवस्था है। न पानी पीने की व्यवस्था है, न उनके ऐसी ठडं में रात गुजारने की व्यवस्था है।  जनपद में सबसे अधिक पशु बाड़े का निर्माण किया गया है, वह भी कागजों पर है। जिसमें सबसे ज्यादा पशु बाड़ों को देने वाले विकास खंड सकरनं, बेहटा, लहरपुर, परसेन्डी और मछरेहटा हैं। इनमें पशु बाड़े दिये गये है लेकिन सकरनं बेहटा और लहरपुर में आधे पशु बाड़े बनें ही नहीं है। जो बनें भी है वह अपात्रों के बनाया गया है। मौके पर आधे अधूरे पड़े हैं। यही हाल विकास खंड परसेन्डी में है, जहां बहुत से पशु बाड़े बनें नहीं है।ं मनरेगा योजना अन्तर्गत बनवाये गये शोफिट में विकास खंड सकरनं,  बेहटा और लहरपुर द्वारा सबसे ज्यादा निर्माण कराया गया है। वे भी कागजों पर ही हैं। ग्राम पंचायत रेवान और सेमरावां, कन्जाखेरा व अधवरी यह सकरनं की ग्राम पंचायत हैं। जिलाध्यक्ष ने स्थलीय जांच कराए जाने की मांग की है। वहीं यह भी कहा कि अगर पारदर्शी जांच नहीं होती है तो राष्ट्रीय लोकदल विशाल धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होगा।