लखनऊ विश्वविद्यालय: प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होंगे दाखिले

Lkouniv Admission 2021: लखनऊ विश्वविद्यालय इस वर्ष अपने पीएचडी, बीए, एमबीए तथा स्नातक सहित अन्य पाठ्यक्रमों में प्रवेश परीक्षा के माध्यम से दाखिले लेगा। विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा से महाविद्यालयों में भी दाखिले होंगे। इसके लिए नौ मार्च से आवेदन लिए जाएंगे। आवेदन ऑनलाइन ही होंगे।

लखनऊ विश्वविद्यालय की प्रवेश समिति की महत्वपूर्ण बैठक मंगलवार को हुई। बैठक में विश्वविद्यालय में नए सत्र में दाखिले को लेकर चर्चा हुई। पिछले वर्ष कोविड-19 की वजह से मेरिट के आधार पर दाखिले हुए थे लेकिन इस बार फिर से प्रवेश परीक्षा के माध्यम से दाखिले कराने का निर्णय लिया गया। प्रवेश प्रक्रिया 9 मार्च से शुरू हो जाएगी। पीएचडी में भी इस बार दाखिले प्रवेश परीक्षा के माध्यम से ही होंगे। और यह नए पीएचडी अध्यादेश के आधार पर होंगे। नवीन अध्यादेश के तहत रेगुलर के साथ-साथ पार्ट टाइम पीएचडी में भी प्रवेश लिए जाएंगे। पार्ट टाइम की पीएचडी में नौकरी पेशा वाले लोग भी एडमिशन ले सकेंगे। वह नौकरी करते करते पीएचडी कर सकेंगे।

इसके अलावा स्नातक के विभिन्न पाठ्यक्रमों में भी प्रवेश परीक्षा से ही दाखिले होंगे। ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए 9 मार्च से ऑनलाइन फॉर्म भरे जाएंगे। एमबीए में प्रवेश कैट स्कोर के माध्यम से होगा। इसके अलावा विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा एलयूएमइटी के माध्यम से भी होंगे। पीजी डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा सर्टिफिकेट में भी प्रवेश परीक्षा से ही दाखिले होंगे। बीटेक में प्रवेश जेईई के स्कोर के आधार पर होंगे। एकेटीयू के साथ काउंसलिंग के माध्यम से दाखिले लिए जाएंगे। विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस बार भी दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा शुल्क में कोई बदलाव नहीं किया है।

केंद्रीयकृत प्रवेश के तहत शामिल होने वाले महाविद्यालयों के पाठ्यक्रमों में भी बच्चों को मिलेगा प्रवेश

लखनऊ विश्वविद्यालय की ओर से दाखिले के लिए कराई जाने वाली प्रवेश परीक्षा में विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालय भी शामिल हो सकेंगे। जो महाविद्यालय इसमें अपनी सहमति देंगे वह भी इसी के माध्यम से अपने कॉलेजों में बच्चों के दाखिले ले सकेंगे। जिन बच्चों की मेरिट कम होगी वह अपनी चॉइस के अनुसार संबंधित महाविद्यालयों में प्रवेश पा सकेंगे। लखनऊ के अलावा मंडल के अन्य कॉलेज जो विश्वविद्यालय से जुड़े हैं उन सभी में भी यह सुविधा रहेगी।

इस तरह देना होगा परीक्षा शुल्क

स्नातक प्रवेश परीक्षा का शुल्क जनरल और ओबीसी- 800

एससी एसटी- 400

स्नातक प्रबंधन जनरल, ओबीसी- 1000

एससी एसटी- 500

पीएचडी फार्म शुल्क सामान्य व ओबीसी- 2000 एससी, एस टी-1000

स्नातक की प्रवेश परीक्षा एमसीक्यू प्रणाली से होगी

स्नातक प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं एमसीक्यू प्रणाली से आयोजित की जाएंगी। परास्नातक प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं थिअरी आधारित होंगी। यह निर्णय बुधवार को प्रवेश समिति की बैठक में लिया गया। छात्रों को प्रश्नों को हल करने की सुविधा यूनिट वार न कर सभी यूनिट से करने की सुविधा दी जाएगी। सम सेमेस्टर 2021 की परीक्षाएं पूर्व निर्धारित नियमों के अनुसार ही होंगी।