गौशाला को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयासों को प्रभारी मंत्री ने सराहा

सहारनपुर। प्रदेश के कृषि एवं जिला प्रभारी मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने नवादा रोड स्थित कान्हा उपवन गौशाला का निरीक्षण किया और वहां निर्मित गौमूत्र लैब का फीता काटकर उद्घाटन किया। प्रभारी मंत्री ने गौमूत्र लैब में बनाये जा रहे फिनाइल की प्रक्रिया देखी और गौशाला को आत्म निर्भर बनाने के प्रयासों की सराहना की। बुधवार की सुबह करीब दस बजे जिला प्रभारी मंत्री सूर्यप्रताप शाही नवादा रोड स्थित कान्हा उपवन गौशाला पहुंचे और गौशाला का निरीक्षण किया। उन्होंने गौमूत्र लैब का फीता काटकर उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने गौमूत्र से फिनाइल बनाने के लिए स्थापित संयंत्र का भी निरीक्षण किया और फिनाइल बनाने की प्रक्रिया भी देखी। नगर स्वास्थय अधिकारी डाॅ. कुणाल जैन ने प्रभारी मंत्री को गौमूत्र से फिनाइल बनाकर दिखाते हुए बताया कि गौमूत्र से बनाया गया फिनाइल अन्य फिनाइल से अधिक प्रभावी है। इसमें किसी केमिकल का प्रयोग न होने से यह नुकसानदायक भी नहीं है। उन्होंने फिनाइल फारमूले की जानकारी देते हुए बताया कि 18 लीटर पानी में एक लीटर चीड़ का तेल और एक लीटर गौमूत्र मिलाकर बीस लीटर फिनाइल तैयार किया जाता है।  

प्रभारी मंत्री ने मशीन से गोबर की लकड़ी व दिए बनाने की प्रक्रिया भी देखी। नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने प्रभारी मंत्री को बताया कि गीले गोबर में भूसा मिलाकर गोबर की लकड़ी तैयार की जा रही है जबकि दिये बनाने के लिए तीन हिस्से सूखे गोबर में एक हिस्सा चंदन वटी पाउडर मिलाया जाता है। उन्होंने बताया कि निगम गौशाला को आत्म निर्भर बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है, इसके लिए गौशाला में गोबर गैस प्लांट स्थापित किया गया है जिससे बिजली उत्पादन कर जनरेटर के माध्यम से गौशाला में प्रकाश व्यवस्था की जा रही है तथा उससे अवशेष गोबर का जैविक खाद बनाकर उसे व्यवसायिक स्तर पर विक्रय करने के लिए पैकेट बनाये जा रहे हैं। उन्होंने प्रभारी मंत्री को बताया कि नगर निगम की कान्हा उपवन गौशाला ऐसी पहली गौशाला है जिसके द्वारा गौशाला से जनवरी माह में 40 हजार रुपये से अधिक धनराशि आय के रुप में निगम कोष में जमा करायी गयी है।
मेयर संजीव वालिया ने प्रभारी मंत्री को बताया कि कान्हा उपवन गौशाला की क्षमता 90 गायों को रखने की है लेकिन वर्तमान में 173 गौवंश का पालन पोषण और रख रखाव गौशाला में किया जा रहा है। मेयर ने बताया कि गौवंश वृद्धि को देखते हुए गौशाला का विस्तार करने की योजना बनायी गयी है इसके लिए निगम 20-25 बीघा जमीन की व्यवस्था कर एक और गौशाला का जल्दी ही निर्माण करायेगा। गौशाला को आत्म निर्भर बनाने के प्रयासों की सराहना की। मेयर संजीव वालिया व नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने इस अवसर पर प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही को स्मृति चिह्न के रुप में कामधेनु गाय की प्रतिमा भी भेंट की। प्रभारी मंत्री द्वारा निरीक्षण के दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष महेन्द्र सिंह सैनी, महानगर अध्यक्ष राकेश जैन, रामपुर विधायक देवेन्द्र निम व क्षेत्रीय पार्षद मोहरसिंह आदि भी मौजूद रहे।