सरकारी जमीनों से अवेध कब्जे हटवाए जाने को लेकर एसडीएम हिमांशु नागपाल सख्त


सहारनपुर। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/उप जिलाधिकारी नकुड़ हिमांशु नागपाल के सख्त तेवरों के आगे वर्षों से सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा किये बैठे कब्जाधारियों की एक न चली। आखिर 300 बीघा सरकारी भूमि को अवैध कब्जाधारियों को खाली करना ही पड़ा हिमांशु नागपाल ने कहा कि सरकारी भूमि पर अैवध कब्जा करने वालों को बख्शा नहीं जायेंगा। उन्होंने कहा कि अवैध भूमि पर कब्जा करने वालों की शिकायत की लेखपालों की टीम से जांच कराये जाने के बाद कार्रवाही सुनिशिचत की जायेंगी।

एसडीएम नकुड़ हिमांशु नागपाल ने आज जानकारी देते हुए बताया कि गंगोह क्षेत्र के ग्राम सैय्यद सराजपुर में सरकारी भूमि पर अवैध कब्जे की शिकायतें मिलने के बाद लेखपाल और कानूनगो की टीम कब्जा हटवाने में असफल रही। उप जिलाधिकारी हिमांशु नागपाल ने अवैध कब्जा हटाने की जिम्मेदार लेते हुए भारी पुलिस फोर्स और राजस्व कर्मियों के साथ  सैय्यद सराजपुर में पहुंच कर सरकारी भूमि से कब्जा हटवाया। कब्जा हटवाते समय कब्जाधारियों से नोक झोंक होने के बाद प्रशासन व पुलिस की सख्ती के चलते एक भी कब्जाधारी वहां टिक नहीं पाया।
सैयद माजरा अहतमाल में करीब तीन सौ बीघा सरकारी जमीन पर पिछले काफी समय से कुछ लोगों ने अवैध रूप से कब्जा कर रखा था। शनिवार को एसडीएम हिमांशु नागपाल, तहसीलदार देवेंद्र सिंह, कानूनगो संजय सिंह, कोतवाली प्रभारी भानू प्रताप सिंह पूरे लाव.लश्कर के साथ हरियाणा सीमा से सटे गांव सैयद माजरा पहुंच गए। सरकारी अमले को देख वहां मौजूद लोगों में हडकंप मच गया। एक अवैध कब्जाधारी ने विरोध करने का प्रयास किया लेकिन प्रशासन व पुलिस की सख्ती के चलते वह चुपके से निकल गए। राजस्व विभाग की टीम द्वारा बिना किसी विरोध के सरकारी भूमि को कब्जा मुक्त करा दिया गया। लेखपाल सुरेंद्र कुमार पराशर राकेश सोलंकी आदि मौजूद रहे।
ज्ञातव्य है कि गांव सैयद माजरा मे काफी समय से सैकड़ों बीघा भूमि पर अवैध रूप से लोगों ने कब्जे किए हुए थे पूर्व में कई बार लेखपाल कानूनगो कब्जे हटवाने के लिए रिपोर्ट देते रहे परन्तु राजनैतिक दबाव में कार्यवाही रुक जाती थी। वहीं उप जिलाधिकारी हिमांशु नागपाल के सख्त रूख के चलते अवैध कब्जेधारियों में खलबली मची हुई है। अपने अभियान के तहत एसडीएम नागपाल कई सौ बीघा सरकारी भूमि को अवैध कब्जाधारियों के कब्जे से मुक्त करा चुके है। उन्होंने कहा कि अवैध कब्जे से भूमि को मुक्त कराने का उनका यह अभियान आगे भी जारी रहेंगा।