केरल के कोल्लम तट पर मछुआरों संग राहुल गांधी ने समुद्र में लगाई डुबकी

कोल्लम: कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने मछुआरों के जीवन को करीब से देखने-समझने के लिए उनके साथ समंदर में डुबकी लगाई. इससे पहले नौका में सवार होकर वो केरल के कोल्लम तट पर समुद्र में गए और जब मछुआरों ने मछली पकड़ने के लिए जाल डाला तो वह भी बाकी मछुआरों के साथ पानी में उतर गए. उन्होंने भी मछुआरों संग मछलियां पकड़ीं. राहुल तट पर पहुंचने से पहले करीब 10 मिनट तक मछुआरों संग तैरते रहे.
राहुल ने जब देखा कि मछली पकड़ने के लिए जाल डालने के बाद कुछ मछुआरे नौका से समुद्र में छलांग लगा रहे हैं, तब वह भी पानी में उतर गये. उस वक्त नौका पर राहुल के एक निजी सुरक्षा अधिकारी भी थे. उनके साथ मौजूद कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने बताया कि अपने साथ के मछुआरों से यह जानने के बाद कि उनके साथी पानी के अंदर जाल को ठीक से फैला रहे हैं, राहुल भी समुद्र में उतर गये.
पदाधिकारी ने कहा, ‘‘वह हमें बताए बगैर ही पानी में उतर गये...हम सभी दंग रह गये लेकिन वह बहुत सहज दिख रहे थे. वह करीब 10 मिनट तक पानी में रहे. वह एक अच्छे तैराक हैं. '' बाद में राहुल के सुद्र में डुबकी लगाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा, जिसमें राहुल नीली टी-शर्ट और खाकी पतलून पहने समुद्र में नहाते दिख रहे हैं.
थंगासेरी तट पर लौटने के बाद राहुल ने अपने गीले कपड़े बदले. उस वक्त नौका पर 23 मछुआरे थे. राहुल के साथ अखिल भारतीय कांग्रेस समिति महासचिव के सी वेणुगोपाल और टी एन प्रतापन सहित पार्टी के चार नेता भी थे. मछुआरों ने राहुल को ब्रेड और मछली करी खिलाई, जो उन्होंने नौका पर पकाई थी.
सूत्रों ने बताया कि राहुल करीब ढाई घंटे समुद्र में रहे. उन्होंने मछुआरों द्वारा पकाई गई करी का लुत्फ उठाया. उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान मछुआरा समुदाय की समस्याओं को भी सुना. नौका के मालिक बीजू लॉरेंस ने कहा कि कांग्रेस नेता ने उनसे उनके परिवार और आमदनी के स्रोत के बारे में पूछा.