डिलीवरी के बाद क्यों दी जाती है गोंद के लड्डू खाने की सलाह


गर्भावस्था के समय और डिलीवरी के बाद, महिलाओं को नियमित रुप से 1 से 2 गोंद के लड्डू का सेवन करने की सलाह दी जाती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसे प्रेग्नेंसी व डिलीवरी के दौरान खाने के लिए क्यों कहा जाता है।

तासीर गर्मः गुणों का खजाना

गोंद की तासीर गर्म होती है। इसमें गैलक्टोज, एरेबिक एसिड, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटाशियम जैसे अन्य कई लवण पाए जाते है जो महिलाओं को अंदरूनी शक्ति प्रदान करता है जिससे शारीरिक कमजोरी दूर होती है।

कौन-सी गोंद है फायदेमंद?

कीकर और बबूल का गोंद सेहत के लिए फायदेमंद होता है। बबूल के पेड़ से मिलने वाली खाद्य गोंद औषधि गुणों से भरपूर होती है, जबकि अन्य पेड़ों से मिलने वाले गोंद का प्रयोग कागज और कपड़ों को चिपकाने के साथ छपाई के काम आता है। रोजाना 1 गिलास दूध के साथ 1 या 2 गोंद का लड्डू खाने से आपको फायदा होगा।

शारीरिक कमजोरी दूर करें

प्रसव के बाद महिला शारीरिक कमजोरी महसूस करती है। कमर व जोड़ों में दर्द रहता है, हड्डियां कमजोर होती हैं। महिलाओं में एनर्जी कम हो जाती है। गोंद में उच्च मात्रा में कैल्शियम व प्रोटीन पाया जाता जो हड्डियों को मजबूती देता है, मांसपेशियों को आराम मिलता है।

स्तनों में दूध की मात्रा बढ़ाने के लिए

नियमित रुप से 1-2 गोंद के लड्डू का सेवन करने से स्तनों में दूध की मात्रा बढ़ती हैं जिससे स्तनपान करवाने में दिक्कत नहीं होती और ब्रेस्टफीडिंग के जरिए शिशु को भी इसके पौष्टिक तत्व मिल जाते हैं। डिलीवरी से पहले खाने से भी यह बच्चे के विकास में मददगार होते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाएं, वायरल रोगों से बचाएं

इस दौरान महिलाओं की इम्यूनिटी कम हो जाती है। ऐसे में 1 लड्डू खाने से आपकी इम्यूनिटी बूस्ट होगी और आप खांसी-सर्दी, दस्त, कफ से बची रहेगी।

पीरियड्स दर्द से आराम

डिलीवरी के बाद पीरियड्स च्रक फिर से शुरु हो जाता है। गोंद का लड्डू ब्लड सर्कुलेशन सही रखता है। पीरियड्स के दौरान होने वाली ऐंठन व कमर पेट दर्द की समस्या दूर होगी।

त्वचा पर बढ़ाए ग्लो

अगर आप भी अपनी त्वचा की चमक और कोमलता खो चुकी है तो लड्डू का सेवन आपके लिए फायदेमंद होता। इससे त्वचा में नमी बरकरार रहेगी और चेहरे की खोई चमक वापिस आएगी।

कब्ज की समस्या

प्रसव के बाद बहुत सी महिलाओं को कब्ज की समस्या हो जाती हैं, ज्यादा समय तक कब्ज बनी रहे तो बवासीर का खतरा भी बना रहता है। उन्हें भी गोंद के लड्डू की खाने की सलाह दी जाती है। गोंद का लड्डू कब्ज को सही कर पेट को साफ रखती है।