सिंघम लेडी थाना प्रभारी गंभीरपुर की अगुवाई में लुटेरे माल सहित गिरफ्तार

बिंद्रा बाजार ,आजमगढ़ ! जनपद में थाना प्रभारियों में सिंघम लेडी मानी जाने वाली  ज्ञानू प्रिया  थाना प्रभारी गंभीरपुर की अगुवाई में पुलिस टीम की मुठभेड़ में लुटेरो को लूट के माल सहित गिरफ्तार किया गया ।  जानकारी के अनुसार दीपक साहनी पुत्र अशोक साहनी निवासी मुबारकपुर व साथी जितेंद्र राजभर पुत्र संतलाल राजभर निवासी रजाकपुर थाना पवई आजमगढ़ , अपनी स्कूटी  से  वाराणसी की तरफ से आ रहे थे । बिंद्रा बाजार पटेल ढाबा के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से एक पल्सर बाइक पर तीन अज्ञात बदमाशों ने ओवरटेक कर  रोक लिया।  उक्त लोग जब तक कुछ समझ पाते कि बाइक सवार बदमाश कनपटी पर  असलहा लगा कर दो मोबाइल और स्कूटी लेकर भाग गए । इस संबंध में दीपक साहनी ने 13 फरवरी को गंभीरपुर थाने में अज्ञात तीन बदमाशों के खिलाफ  लिखित तहरीर दिया । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आजमगढ़  द्वारा चलाए जा रहे वांछित गिरफ्तारी व संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग अभियान में गंभीरपुर थाना प्रभारी निरीक्षक  ज्ञानूप्रिया  के पुलिस टीम के अंतर्गत  बैजनाथ सरोज, कांस्टेबल मोनू कुमार, सुनील सक्सेना, उपनिरीक्षक तारकेश्वर राय ,उप निरीक्षक शंकर कुमार यादव चौकी इंचार्ज गोसाई की बाजार, संजीव कुमार यादव ,उदय भान गुप्ता व सौरभ सरोज आदि द्वारा चेकिंग अभियान चल रही थी कि मुखबिर से सूचना मिली की बारह फरवरी की रात में चोरी की स्कूटी के साथ  तीन लोग खड़े हैं ।  थाना प्रभारी ने तत्परता दिखाते हुए दल बल के साथ  मौके पर पहुंचकर तीनों बदमाशों को पकड़ने की कोशिश की तो बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायर कर दिया । जवाबी कार्रवाई में  कठोर परिश्रम द्वारा पुलिस मुठभेड़ में तीनों पकड़े गए ।  जिन्होंने कड़ाई से पूछताछ में अपना जुर्म कबूल किया तथा अपना नाम मुनीम राजभर अपना जुर्म कबूल किया तथा अपना नाम मुनीम राजभर उर्फ मनीष राजभर विक्की गौड़ पुत्र सूबेदार गांव निवासी हुसैन गंज थाना सिधारी धनंजय राजभर पुत्र केशव राजभर बताया तलाशी लेने पर एक कट्टा 315 बोर एक जिंदा कारतूस व एक खोखा बरामद हुआ । तत्पश्चात पुलिस ने संबंधित धाराओं में चालान कर जेल भेज दिया।