माहवारी के दौरान मसालेदार भोजन से बचे

माहवारी स्वच्छता विषय पर जागरूकता अभियान

बदलाव अभियान के अंतर्गत कार्यशाला

दी मदर्स लैप वेलफेयर फाउंडेशन के तत्वधान में आशा वेलफेयर फाउंडेशन ने किया जागरूकता अभियान

लखनऊ । घरों में काम करने वाली गरीब महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान समुचित तरह से सावधानी एवं स्वच्छता न रख पाने के कारण कई बीमारियां जन्म लेती है। इन महिलाओं में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से बदलाव अभियान आशा वेलफेयर फाउंडेशन के द्वारा संचालित किया गया। इसके अंतर्गत राजधानी में महानगर क्षेत्र के अंर्तगत रहीम नगर के इंद्रप्रस्थ नगर में मलिन बस्ती में महिलाओं एवं लड़कियों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में काजल पांडेय ने महिलाओं को जानकारी देते हुए कहा कि माहवारी के दौरान गंदा कपड़ा नही इस्तेमाल करें इसकी जगह सैनिटरी पैड का इस्तेमाल किया जाना चाहिए जो बाजार में आसानी से उपलब्ध है। किसी तरह का दर्द होने पर घबराना नही है साथ ही दर्द होने पर गर्म पानी की थैली से पेट की सिकाई करें। पोषण युक्त भोजन ज़रूरी है। दर्द से बचाव के लिए ज़्यादा मीठा और ज़्यादा मसालेदार भी नही खाना चाहिए। साथ ही सात दिन से अधिक रक्तस्राव होने पर,डेढ़ दिन से पहले रक्तस्राव रुकने पर एवं महीने में कई बार रक्तस्राव होने पर फौरन किसी क्लीनिक या सरकारी अस्पताल पर डॉक्टर से परामर्श लिया जाना चाहिए । सैनिटरी पैड्स को सावधानी के साथ इस्तेमाल करें,इस्तेमाल के बाद उसे ऐसी जगह कागज़ में फेंके जहां जानवर आदि न पहुँच सकें साथ ही पैड्स को जलाना भी नही चाहिए।

कार्यक्रम के अंत मे महिलाओं एवं लड़कियों को सैनिटरी पैड्स का वितरण भी किया गया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में दी मदर्स लैप संस्था की अध्य्क्ष मानसी प्रीत मोहित सिंह चौहान,प्रतीक दुबे,शहनाज एवं शबनम की सक्रिय भूमिका रही। मानसी प्रीत की टीम के निर्देशन में महिलाओं लड़कियों को एकत्रित किया गया। कार्यक्रम के अंत मे सभी को नाश्ता भी दिया गया।

बदलाव अभियान के कार्यक्रम में आशा वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष सोनी वर्मा,सचिव ज्योति मेहरोत्रा,युवा संगठन सचिव अभिषेक सिन्हा, शीबा खान,अर्चना सिंह,अनीता सिंह,पूजा सिंह,मीनाक्षी मौजूद रहे साथ ही उड़ान डांस अकादमी से सरिता सिंह ने सैनिटरी पैड्स डोनेट कर अपनी सहभागिता दी ।