कोरोना योद्धाओं ने निभाया मानवता का फर्ज: डॉ. भटनागर

उत्कृष्ट सेवाओं के लिए सम्मानित किया

सहारनपुर। वरिष्ठ आईएएस डॉ. आर.के.भटनागर ने कहा कि जब कोरोना का नाम सुनकर लोग डर जाते थे, कालोनियों में आवागमन बंद हो जाता था, और लोगों का मौहल्ले से निकलना तो दूर परिवार के लोग भी दूर बना रहे थे, तब ऐसी स्थिति में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के लिए चिकित्सकों, उपचारिकाओं एवं समस्त संवर्ग के स्वास्थ्य कर्मियों ने अपने जीवन को दाव पर लगाकर मानवता का फर्ज निभाकर कोरोना पीडित रोगियों का उपचार करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है। मानवता के प्रति समर्पित ऐसे महानुभावों को सम्मान देना सभी लोगों को दायित्व है। 

डॉ. भटनागर आज यहां जिला चिकित्सालय के टी.बी.सेनेटोरियम में इण्टरनेशनल गुडविल सोसायटी ऑफ इण्डिया के तत्वावधान मे आयोजित करोनो योद्धा सम्मान समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 में कोरोना संक्रमित लोगों का उपचार करना, किसी जोखिम से कम नहीं है। उन्होंने सम्मान समारोह में कहा कि स्वास्थ्य चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों की जिम्मेदारी सबसे ज्यादा बढ़ गयी है। 

सोसायटी के जिलाध्यक्ष गौकरण दत्त शर्मा ने कहा कि चिकित्सकांे ने कोविड बीमारी के दौरान मानवता की सेवा कर मिसाल कायम की है। स्वास्थ्य कर्मियों एवं चिकित्सकों के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। 

विशिष्ट अतिथि डा. आभा वर्मा ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी ने दुनिया को हिलाकर रख दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। इनके अलावा विशिष्ट अतिथि एसपी देहात अतुल शर्मा, डा.बीएस. सोढी, डा. योगेन्द्र नाथ शर्मा आदि ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का सफल संचालन शशि कुमार सैनी ने किया। कार्यक्रम में कोरोनो योद्धाओ को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में देव कुमार, विक्रांत तिवारी, शशि कुमार सैनी, कुलवीर सिंह वालिया, दीपक अग्रवाल, अरूण कुमार, सुनील कुमार, साबिर अली खान, श्रीमती सुषमा बजाज, डॉ. प्रयास नागियान, पंकज शर्मा, एफ.वी.रिर्चडसन, विपिन जैन डॉ. नरेश सैनी आदि मौजूद रहे।